Hello, Welcome To BharatIdea, An Idea To Make Our Country Vishwa-Guru


...
Search Of Useful Contents

test

test

...
Editing And Coding

Test.

Test.

...
Publish On Social Media

Test.

Test.

...
...
...
...
...

नमस्कार दोस्तों आप सब का स्वागत है आपके अपने समाचार स्त्रोत BharatIdea में। आपके मन में ये सवाल जरूर उठ रहा होगा की आखिर BharatIdea किन विषयो पर समाचार देता है, और क्यूँ देता है। तो आइये जानते है भारत आईडिया के मूल सिधान्तो और इसको बनाने के पीछे कारणों को?

BharatIdea बनाने की जरुरत क्यूँ परी:
दोस्तों समय के साथ अगर हम देखे तो हमारे राष्ट्र ने काफी अक्रान्ताओ के आक्रमण को झेला है। इतने हमलो के बाद भी हमने चिंतन नहीं किया और आज ऐसा वक़्त आ गया है की हम अपनी संस्कृति को छोर पश्चिमी संस्कृति को अपना रहे है।BharatIdea के शोध के अनुसार भारत में जितने भी लोग रहते है उनमे से मात्र ऐसे 10% लोग ही ऐसे है जिनको अपने देश की संस्कृति तथा राजनीती से मतलब है और बाकियों का ये मानना है की देश बरसो से चला आ रहा है और आगे भी चलता ही रहेगा। वो लोग जो सोचते है की भारत वर्ष वर्षो से चला आ रहा है और आगे भी चलता ही रहेगा तो मै उनके लिए कुछ पंक्तिया कहना चाहूंगा,

हमने पूछा इस देश का क्या होगा, वो बोले देश तो बर्षो से चल रहा और आगे भी चलता रहेगा, कल आपको ढूंढना पड़ेगा की देश कहाँ है और वो कहेंगे ढूंढते रहिये देश तो हमारी जेब में परा है क्या देश हमारी जेब से बरा है।

BharatIdea इन्ही कारणों से निकला एक गुस्से और बगावत का नतीजा है।BharatIdea की बस एक ही इक्षा और ख्वाहिस है की इस देश का युवा वर्ग अपने देश के उज्वल भविष्य के लिए काम करे ना की खुद के स्वार्थ के लिए।देश का युवा एक ही शर्त पर अपने देश हित के लिए काम कर पायेगा जब उसको अपने देश की संस्कृति और राजनीती की समझ हो अन्यथा नेता युवाओ को बेवकूफ बना कर इस देश की संस्कृति का नास करते रहेंगे और आपस में सब को लड़वाते रहेंगे जिससे उनका फायदा हो न की देश के भविष्य का। आपकी राजनीती और संस्कृति समझ को बढ़ाने में BharatIdea आपकी पूरी मदद करेगा अपने लेखो के द्वारा ताकि आप अपना एक महत्वपूर्ण योगदान दे सके देश के उज्जवल भविष्य के लिए।

BharatIdea का लक्ष्य क्या है:
BharatIdea का सिर्फ और सिर्फ एक ही लक्ष्य है, AN IDEA TO MAKE OUR COUNTRY VISHWA-GURU, हयात लेके चलो, कायनात लेके चलो...चलो तो ऐसे चलो की देश को विश्व गुरु बनाने की राह पर चलो। भारत आईडिया किस प्रकार के समाचार प्रकशित किये जाते है। BharatIdea आपको हर तरह की समाचार देगा जैसे की :
राजनीती से जुड़ी खबरे।
झूठी खबरों की सच्चाई बताना।
इतिहास से जुड़ी खबरे।
महापुरषो की जीवनी के बारे में चर्चा।
सेना से जुड़ी खबरे।
खेल से जुडी खबरे।
विज्ञान से जुड़ी खबरे।
अजब गजब तथ्यों से जुड़ी खबरे।
अंतरष्ट्रीय खबर।
संगठन से जुड़ी खबरे
जमीनी स्तर की खबरों की जानकारी देना।

BharatIdea की खबरों से आप क्या सिख सकते है :
जैसा की ऊपर आप पढ़ चुके है की BharatIdea एक ऐसा समाचार का स्त्रोत है जहाँ आप अपनी जानकारियों को मजबूत कर सकते है। जो लोग अपनी संस्कृति को समय के आभाव में या राजनीती समझ को मजबूत नहीं कर पा रहे है वो लोग BharatIdea पर अपनी इन कमजोरियों को दूर कर अपने देश को पूर्ण रूप से जान और समझ सकते है तथा समाज में चौर होकर बोल सके की हाँ मै भी जानता हु अपने देश की संस्कृति को, राजनीती को और तो और आप भी सामजिक चर्चाओं में बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले सकते है।

BharatIdea की भविष्य की रणनीति क्या है :
ज्यादा से ज्यादा लोगो तक हर तरह की खबर पहुँचाना।
पॉकेट महाभारत का वितरण।
पॉकेट रामायण का वितरण।
पॉकेट अर्थशात्र का वितरण।
रोजगार पैदा करना।
पिछड़े तथा गरीबो के लिए काम करना।
स्वच्छ भारत के लिए जमीनी स्तर पर काम।
भारत की संस्कृति का पताका लहराना।
झूठी खबर का पर्दाफास करना।
भारतवर्ष को विश्व गुरु बनाने में योगदान देना।

Forest

Stay informed With Us


We understand you don’t have time to go through long news articles everyday. So we cut the clutter and deliver them, in 60-word shorts. Short news for the mobile generation.


Loading...

All Rights Reservd To BharatIdea

This is default featured slide 1 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 2 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 3 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 4 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 5 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

My Sticky Gadget

Showing posts with label NITISH KUMAR. Show all posts
Showing posts with label NITISH KUMAR. Show all posts

रात में टहल रही दो बहनों के साथ 8 लोगों ने किया बलात्कार : नीतीश कुमार अभी खामोश




नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे ऐसे कुकर्म के बारे में जिसको सोच आपकी रूह कांप जाएंगी ।

विनती, समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस है, हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



बिहार में सड़क किनारे टहल रहीं दो सगी बहनों से आठ लोगों के रेप करने का मामला सामने आया है. आरोपियों ने घटना के दौरान लड़कियों का वीडियो भी बना लिया. शुक्रवार को पीड़ित बहनों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी.ये मामला बिहार के सीतामढ़ी जिले के कन्हौली क्षेत्र का है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार की रात 8 बजे दोनों नाबालिग लड़कियां सड़क पर टहल रही थीं. इसी दौरान एक महिला ने उन्हें सरेह की तरफ चलने को कहा.

महिला के साथ आगे बढ़ने के कुछ देर बाद ही आरोपियों ने लड़कियों को पकड़ लिया और उन्हें अपने साथ ले गए. आठ युवकों ने लड़कियों के साथ रेप किया. हालांकि, जिस महिला के साथ लड़कियां टहल रही थीं, वह भाग निकली.




बुरी हालत में लड़कियों के घर पहुंचने पर मां को घटना की जानकारी मिली. पीड़ित लड़कियों के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया. लड़कियों को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल ले जाया गया. एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने कमलेश कुमार, अनिल कुमार, सुजीत कुमार, नागेंद्र कुमार, राजू कुमार, पशुराम कुमार व गोविंदा कुमार के खिलाफ मामला दर्ज किया है. गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापे मार रही है. 



आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



नीतीश ने तेजस्वी के खेमे को बड़ी राहत, कहीं ये बिहार में सरकार बदलने के तो आसार नहीं !




नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करने वाले है तेजस्वी और नीतीश के जुगलबंदी के बारे में ।

समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस है, हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले ही आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव के बयानों से खुश न रहते हों लेकिन उन्होंने तेजस्वी को बड़ी राहत दी है. बिहार सरकार ने कहा है कि तेजस्वी यादव जब उप मुख्यमंत्री थे तो उनके बंगले में खर्च नियमानुसार ही किया गया है. सरकार की ओर से जारी इस बयान को एक तरह से क्लीनचिट के तौर पर देखा जा रहा है.  भवन निर्माण विभाग के प्रधान सचिव चंचल कुमार जो मुख्य मंत्री के भी प्रधान सचिव ने एक संवादाता सम्मेलन में कहा,  'पांच देश रत्न मार्ग जो उपमुख्य मंत्री के लिए चिन्हित हैं उस पर जब तक तेजस्वी यादव रहे उस समय नियम के अनुसार राशि ख़र्च हुई. हालांकि उन्होंने यह भी माना कि विभिन्न मद में अधिक राशि ख़र्च हुई है.  

इस वक्तव्य के बाद इस बंगले पर साज सज्जा के नाम पर बीजेपी नेताओं ख़ासकर उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी द्वारा जांच कराने के घोषणा पर सवालिया निशान खड़ा हो गया है. भवन निर्माण विभाग के प्रधान सचिव चंचल कुमार ने ये भी सफ़ाई दी कि मोदी के वक्तव्य के अनुसार किसी कमेटी से जांच नहीं करायी जाएगी. निश्चित रूप से बिहार सरकार के इस सफ़ाई के बाद राजद के नेता ख़ासकर तेजस्वी यादव राहत की सांस लेंगे.




लेकिन बिहार सरकार ने लगता है कि इस प्रकरण के बाद अब मंत्री , विधायक के बंगले पर कितना ख़र्च हो उसकी सीमा तय कर दी है. अब किसी मंत्री का बंगला पूरी तरह 'सेंट्रालाइज्ड एसी' युक्त नहीं होगा. 

बिहार सरकार की ओर से लिए गए इस फैसले के कई मायने निकाले जा रहे हैं. एक ओर जहां मोदी सरकार में मंत्रिमंडल में मिली एक सीट की वजह से बिहार एनडीए में तनाव की खबर आ रही हैं वहीं नीतीश कुमार ने जब अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया था तो उसमें बीजेपी को भी जगह नहीं मिली थी. 'चमकी बुखार' में हुई बच्चों की मौत पर घिरे नीतीश कुमार क्या बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले भी कोई बड़ा फैसला लेंगे इस पर भी कयास लगने शुरू हो गए हैं.



आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



नितीश का धर्म के नाम पर फिर से तुस्टीकरण, अब राज्यसभा में बीजेपी को किनारे करने की तैयारी




नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम इस लेख में बात करेंगे
नितीश कुमार की तुस्टीकरण की राजनीती के बारे में जहाँ उनकी पार्टी की तरफ से ये साफ़ कहा गया है की उनकी पार्टी राजयसभा में तीन तलाक बिल के मुद्दे को समर्थन नहीं देगी। 

समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस है, हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 


तीन तलाक बिल पर बीजेपी के साथ नहीं : JDU  
बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार की अध्यक्षता वाली पार्टी और एनडीए की सहयोगी जेडीयू ने संसद के आगामी बजट सत्र में तीन तलाक पर लाए जाने वाले बिल का विरोध करने का फैसला किया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और नितीश कुमार में हाल ही मंत्री बनाए गए श्याम रजक ने समाचार एजेंसी आईएनएस से कहा कि उनकी पार्टी तीन तलाक बिल के खिलाफ कानून का विरोध करती रही है और आगे भी उनकी पार्टी का यही रुख कायम रहेगा। रजक ने कहा कि तीन तलाक बिल का मुद्दा एक सामाजिक मुद्दा है और इसे उस समाज के लोगो द्वारा ही सुलझाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि जेडीयू ने पहले भी तीन तलाक के खिलाफ लाए गए बिल का राज्यसभा में विरोध किया था।




नितीश कुमार ने पहले भी किया है तीन तलाक के बिल का विरोध 
बता दें कि कुछ दिनों पहले भी नितीश कुमार ने खुले आम तीन तलाक बिल का विरोध किया था। इसके अलावा नीतीश ने यह भी साफ किया था कि उनकी पार्टी अनुच्छेद 370 की समाप्ति, समान नागरिक संहिता लागू करने और अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए खुले तौर पर दोनों पक्षों के बीच बातचीत या कोर्ट के फैसले के जरिए समाधान चाहती है।

नितीश कुमार जानते हैं कि राज्य सभा में सरकार के पास पर्याप्त संख्या बल नहीं है जिससे कि वह इस विधेयक को सदन सेपास करा सके। वहीं जेडीयू के कुल छह राज्य सभा सांसद हैं। दरअसल, नितीश कुमार ऐसा कर न केवल मुस्लिमों के हितैषी बने रहना चाहते हैं बल्कि वो स्पष्ट संदेश भी जेना चाहते हैं कि बीजेपी की प्रचंड जीत के बावजूद उनका नजरिया नहीं बदला है।


आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



बिहार: 2020 विधानसभा चुनावों में अगर बीजेपी बनी सबसे बड़ी पार्टी तो ये बन सकते हैं अगले CM.




हाल ही में सिंह ने नीतीश कुमार और लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) प्रमुख व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को इफ्तार पार्टी का आयोजन करने को लेकर निशाने पर लिया था. ऐसे में अगर अगले साल विधानसभा चुनाव में एनडीए में सबसे ज्यादा सीटें बीजेपी को आती हैं तो संभवत: बीजेपी मुख्यमंत्री पद पर अपनी दावेदारी ठोक सकती है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औऱ गृह मंत्री अमित शाह के करीबी गिरिराज सिंह का नाम आगे कर सकती है. बता दें कि गिरिराज सिंह ने 30 मई को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ ली और शुक्रवार को नए मंत्रिमंडल में मंत्रालयों के हुए बंटवारे में उन्हें पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया था. गिरिराज सिंह ने बेगूसराय लोकसभा सीट पर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी और सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार को 4 लाख से अधिक मतों के अंतर से पराजित किया था.





बिहार से उठी आवाज हमारा नेता कैसा हो गिरिराज सिंह जैसा हो, बढ़ी नीतीश की मुश्किलें !




मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री और अपने बयानों के कारण सुर्खियों में रहने वाले गिरिराज सिंह को बिहार का मुख्यमंत्री बनाने की मांग उठी है. ये मांग भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कार्यकर्ता और गिरिराज के समर्थकों ने रवि

वार को की. गिरिराज के सैकड़ों समर्थकों ने नारा लगाया कि ऐसा ही हो सीएम हमारा और अगला मुख्यमंत्री कैसा हो, गिरिराज सिंह जैसा हो. गिरिराज के समर्थन में ये नारे तब लगे जब वह लोकसभा चुनाव जीतने के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र बेगूसराय पहुंचे.




पार्टी के एक नेता ने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता और समर्थक गिरिराज को बिहार का अगला मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं. बीजेपी कार्यकर्ता और गिरिराज के समर्थकों की ये मांग वर्तमान मुख्यमंत्री और जनता दल-यूनाइटेड (जेडीयू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार के लिए अगले साल होने वाले राज्य विधानसभा चुनावों से मुश्किलें बढ़ाने वाली है. 




गिरिराज सिंह ने हाल ही में नीतीश कुमार, लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान पर इफ्तार पार्टी आयोजित करने के लिए निशाना साधा था. बता दें कि नीतीश कुमार की जेडीयू और पासवान की एलजेपी बीजेपी की सहयोगी पार्टियां हैं.





नीतीश फिर से पलटने कि तैयारी में, प्रशांत किशोर के जरिए बनाई रणनीति, ममता भी है शामिल। ।




जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर का पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के सलाहकार बनने के बाद फिर से चर्चा तेज हो गई है कि मोदी और नीतीश में सब कुछ सही नहीं चल रहा है।माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी से कड़ी टक्‍कर मिलने के बाद ममता पश्चिम बंगाल में बीजेपी के खिलाफ प्रशांत किशोर के साथ चुनावी रणनीति बनाएंगी। बता दें कि प्रशांत किशोर ने टीएमसी के साथ अगले विधानसभा चुनाव में काम करने का समझौता कर लिया है। प्रशांत किशोर ने बाकायदा टीएमसी के साथ कांट्रैक्ट भी साइन किया है और आने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में वह बतौर रणनीतिकार ममता के लिए काम करेंगे। जाहिर है प्रशांत किशोर के इस फैसले के बाद एक अहम सवाल भी खड़ा हो रहा है। सवाल ये कि क्या इसके लिए नीतीश कुमार ने भी उनको सहमति दे दी है?






दरअसल, ये सवाल इसलिए खड़ा हो रहा है क्योंकि कुछ दिन पहले ही प्रशांत किशोर ने पटना और दिल्ली में नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। इसके बाद ही उनके ममता बनर्जी के लिए काम करने की खबरें सामने आईं हैं।गुरुवार को जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने बताया कि प्रशांत किशोर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं। ऐसे में इस तरह की कोई भी बात बिना राष्ट्रीय अध्यक्ष की इजाजत के संभव नहीं है।




जाहिर है जेडीयू में वही होगा जो नीतीश कुमार चाहेंगे। ऐसे में यह सवाल उठना लाजिमी है कि क्या नीतीश कुमार ने ही प्रशांत किशोर को ऐसा करने के लिए कहा है।




नीतीश कुमार ने बीजेपी को जवाब देने की कर ली तयारी, लग सकता है बीजेपी को झ्ट्टका !!




नीतीश कुमार मंत्रीमंडल विस्तार के जरिये सूबे के सियासी समीकरण को साधने की कवायद में हैं। नीतीश के मन में क्या चल रहा है ये किसी को नहीं पता क्योंकि उनकी राजनीति भी हमेशा चौंकाने वाली होती है।नरेंद्र मोदी पार्टी 2 में जेडीयू के एक भी मंत्री नहीं होने के बाद आज बिहार में सियासी बदलाव का सुपर संडे है। नीतीश कुमार मंत्रिमंडल का विस्तारकरने जा रहे हैं। मोदी सरकार से जेडीयू की सियासी दूरी के मायने निकाले जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक इसमें भाजपा के कोई मंत्री नहीं होंगे। खबरों की मानें तो बिहार मंत्रिमंडल विस्‍तार में छह से आठ नए मंत्री शामिल किए जा सकते हैं। बिहार में इस वक्त 25 मंत्री हैं और मंत्री बनाए जाने की अधिकतम सीमा 36 है। मतलब 11 मंत्री पद फिलहाल खाली है।




नीतीश के नए मंत्री ये हो सकते हैं-
संजय झा
अशोक चौधरी
श्‍याम रजक
नीरज कुमार
नरेंद्र नारायण यादव
लक्ष्मेश्वर राय
रामसेवक सिंह
बीमा भारती





गौर करने वाली बात ये है कि इस विस्तार में भारतीय जनता पार्टी और लोक जनशक्ति पार्टी को जगह मिलती है या नहीं ये बड़ा सवाल है। नीतीश कुमार मंत्रीमंडल विस्तार के जरिये सूबे के सियासी समीकरण को साधने की कवायद में हैं। नीतीश के मन में क्या चल रहा है ये किसी को नहीं पता क्योंकि उनकी राजनीति भी हमेशा चौंकाने वाली होती है।




बिहार में होगा मेट्रो का शिलान्यास, जाने कब तक होगी इसकी शुरुआत?


नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं भारत देश के गौरवशाली राज्य बिहार के बारे में, जहां के लिए एक अच्छी खबर आ रही है और वह खबर यह है कि लोकसभा चुनाव से पहले बिहार को मेट्रो की मंजूरी मिल सकती है.

बिहार में होगा मेट्रो का शिलान्यास, जाने कब तक होगी इसकी शुरुआत?

क्या है मामला :
आपको हम बताना चाहेंगे कि पटना मेट्रो को लेकर जनता दल यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी काफी गंभीर है और लोकसभा चुनाव से पहले चुनावी फायदा उठाने के लिए बिहार सरकार मेट्रो की मंजूरी बिहार को दिलवाना चाहती है.पटना मेट्रो को लेकर केंद्र सरकार भी गंभीर है. मेट्रो की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट का केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय ने अपने स्तर से आंकलन करके उसे पब्लिक इंटरेस्ट कमेटी (पीआईबी) को भेज दिया है.वहां से मंजूरी मिलते ही इसे केंद्रीय कैबिनेट के समक्ष मंजूरी के लिए रखा जाएगा. यह बात बिहार के नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने बुधवार की शाम नई दिल्ली में केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी से मुलाकात के एक अखबार को बतायी.



चुनावी फायदा उठाना चाहती है सरकार :
आगामी लोकसभा चुनाव में सरकार मेट्रो परियोजना पर ‘सवार’ होकर जाना चाहती है.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस ड्रीम प्रोजेक्ट पर बुधवार को नई दिल्ली में केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री से राज्य के नगर विकास एवं आवास मंत्री ने भेंट की.केंद्रीय मंत्री ने आश्वस्त किया कि केंद्र से मेट्रो की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) को जल्द फाइनल किया जाएगा, ताकि इसका शिलान्यास हो सके. मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने बताया कि 9 अक्टूबर को पटना मेट्रो की जो डीपीआर केंद्र को भेजी गई थी, उसका परीक्षण करके 12 अक्टूबर को मंत्रालय द्वारा पीआईबी को भेज दिया गया था.कमेटी 15 दिन के भीतर परियोजना का मूल्यांकन करेगी, यदि कोई कमी होगी तो उसे तत्काल दूर करा लिया जाएगा.सुरेश कुमार शर्मा ने बताया कि केंद्रीय मंत्री ने आश्वस्त किया है कि केंद्र ने फंडिंग की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है.बता दें कि पटना मेट्रो के लिए 20 प्रतिशत धनराशि केंद्र को, 20 प्रतिशत राज्य सरकार को देनी है.

कब तक होगा शिलान्यास:
बाकी 60 प्रतिशत राज्य सरकार जापानी कंपनी जाइका, एशियन डेवलपमेंट बैंक या अन्य एजेंसी से लोन लेगी. नगर विकास मंत्री ने कहा कि नवंबर के अंत में या दिसंबर के पहले सप्ताह में मेट्रो का शिलान्यास होगा.

हमारे फेसबुक  जरूर लाइक करे : 
Bharat Idea


घटिया मेवानी ने 9 मिनट के भाषण में छह बार मोदी जी के लिए इस्तेमाल किया अपशब्द



नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में, तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं जिग्नेश मेवानी के बारे में जो कि अपनी घटिया राजनीति के लिए तथा गंदी सोच के लिए जाने जाते हैं. इसी सोच के साथ उन्होंने फिर से अपना घटियापन दिखाते हुए अपने 9 मिनट के भाषण में 6 बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के लिए अपशब्द कहे.

घटिया मेवानी ने 9 मिनट के भाषण में छह बार मोदी जी के लिए इस्तेमाल किया अपशब्द

क्या है मामला:
जीहां दोस्तों आपने सही सुना जिग्नेश मेवानी ने गुरुवार को एक रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला और अपनी घटिया पन दिखाते हुए पटना के गांधी मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए विवादित शब्दों का इस्तेमाल किया. आपको बता दें कि गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवानी ने भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की भाजपा हटाओ देश बचाओ की रैली को संबोधित करते हुए 9 मिनट का भाषण दिया इसमें उन्होंने 6 बार प्रधानमंत्री को नमक हराम कह कर संबोधित किया.




क्या कहा घटिया मेवानी ने मोदी जी पर:
भाषण की शुरुआत में जिग्नेश मेवानी ने प्रधानमंत्री को कप्तान कह कर संबोधित किया और कहा कि वह नमक हराम है और उनकी सबसे ज्यादा नमक हरामि गुजरात की जनता ने देखी है. जिग्नेश मेवानी जो कि एक घटिया इंसान है उसने प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि वह बिहार समेत देश की 130 करोड़ जनता से माफी मांगते हैं कि गुजरात ने ऐसा मैन्युफैक्चरिंग डिफेक्ट वाला पीस दिल्ली भेज दिया.


घटिया मेवानी ने बिहारियों की पिटाई पर क्या कहा :
इसके बाद घटिया इंसान जिग्नेश मेवानी ने हाल में ही घटी घटना जिसमें बिहारियों को गुजरात में पीटा जा रहा था उसका जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कितने नमक हराम है, इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि गुजरात में उत्तर भारतीयों की पिटाई हो रही थी मगर इस नमक हराम की जुबान से एक शब्द नहीं निकला. घटिया मेवानी ने अपने भाषण को आगे बढ़ाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने गुजरात में उत्तर भारतीयों के साथ हुई पिटाई के मुद्दे पर अपनी जुबान नहीं खोली इसलिए देश की जनता को इस नमक हराम को पहचान लेना चाहिए.




घटिया मेवानी ने सिर्फ और सिर्फ अभद्र टिप्पणी की:
घटिया  मेवनी ने प्रधानमंत्री पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि भूख,महंगाई,तेल की बढ़ती कीमत तथा दलितों पर हो रहे अत्याचार से हमारे प्रधानमंत्री को कोई मतलब नहीं है उनको मतलब है तो सिर्फ गाय से. घटिया मेवनी जब अपनी भाषण दे रहा था उस वक्त बिजली गुल हो गई और मेवानी को अपना भाषण बीच में ही रोकना पड़ा जिसके बाद मेवानी ने मोदी जी पर भद्दी टिप्पणी करते हुए कहा कि बिजली का गुल हो जाना भी नमक हराम की साजिश है.




संपादक : विशाल कुमार सिंह


राजीव ब्रह्मर्षि की रिहाई के लिए अनशन पर बैठे हिंदू पुत्र संगठन के एक कार्यकर्ता के मुंह से निकला खून

नमस्कार दोस्तों आप सब का स्वागत है भारत आइडिया में, जैसा कि आप सब को पता है वैशाली जिले के हाजीपुर के गांधी चौक पर  हिंदू पुत्र संगठन के कार्यकर्ता राजीव महर्षि की रिहाई तथा बेवजह लगाए सीसीए के लिए पिछले 2 दिनों से अनशन पर बैठे हुए हैं लेकिन इसी बीच एक दुखद खबर आ रही है.

राजीव ब्रह्मर्षि की रिहाई के लिए अनशन पर बैठे  हिंदू पुत्र संगठन के एक कार्यकर्ता के मुंह से निकला खून

आपको बता दें कि हाजीपुर के गांधी चौक पर हिंदू पुत्र संगठन के 11 कार्यकर्ता राजीव महर्षि की रिहाई तथा गलत तरीके से लगाए गए सीसीए  के लिए आमरण अनशन पर बैठे हैं, इन 11 कार्यकर्ताओं ने 36 घंटे से भोजन का एक निवाला भी नहीं चखा है और इसी का परिणाम है कि अभी एक कार्यकर्ता के मुंह से अनशन के दौरान खून निकला है और तब भी प्रशासन सोई हुई है.

आपको बता दे कि बीते कुछ दिन पहले राजीव ब्रह्मर्षि जी को बिना किसी कारण बिहार सरकार ने उनको जेल में डाल सीसीए लगाया जबकि उनकी गलती सिर्फ इतनी थी कि वह हमेशा से हिंदुओं के पक्ष में बात करते आए थे और यही कारण है कि हिंदू पुत्र संगठन के सभी कार्यकर्ता अपनी पूरी जी जान लगाकर अपने शेर राजीव ब्रह्मर्षि की रिहाई के लिए अनशन कर रहे हैं.

भारत आइडिया सरकार से दरख्वास्त करता है कि जल्द से जल्द हिंदू पुत्र संगठन की सारी मांगे पूरी की जाए नहीं तो कम से कम उनको आश्वासन दिया जाए कि इनकी मांगों पर जल्द ही एक्शन लिया जाएगा और सरकार इनका का अनशन छुड़वाया अन्यथा बिहार में सारे हिंदू संगठन तथा हिंदुओं के गुस्से का सामना सरकार को करना पड़ेगा.

संपादक : विशाल कुमार सिंह

सुशील मोदी ने आज अपनी किताब लालू लीला रिलीज़ करदी।

बीजेपी बिहार प्रमुख तथा बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने खुद की लिखी किताब लालू लीला को आज रिलीज़ कर दिया : किताब में लालू तथा उनके परिवार के घोटालो की है पूरी कहानी। 

सुशील मोदी ने आज अपनी किताब लालू लीला रिलीज़ करदी।

बीजेपी बिहार प्रमुख तथा बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद की जीवनी के ऊपर एक किताब लिखी है, जिसका नाम है लालू लीला और सुशील मोदीजी ने अपनी इस किताब में मुख्यतः लालू प्रसाद यादव तथा उनके परिवार द्वारा किये गए घोटालो पर रोशनी डाली है। 

किताब के विमोचन के बाद खुद बीजेपी बिहार प्रमुख तथा बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी जी ने ट्विटर के जरिये ये बताया की लालू परिवार के घोटालो की कहानी की पुस्तक लालू लीला का आज विमोचन किया गया। 

सुशील मोदी जी ने बताया की मेरी और लालू प्रसाद यादव की राजनीती की शुरुवात एक साथ हुई थी और वो लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवि से ज्यादा उनको जानते है, और मोदी ने कहा की लालू के राजनीतक जीवन को मैंने देखा है जो जनता के सामने लाना जरुरी है।

बहरहाल जो भी हो अब ये देखना होगा की राजद इसपर अपनी क्या प्रतिक्रिया देती है और राजद की और से बीजेपी के इस कदम पर क्या बयान आता है। 

सम्पादक ; विशाल कुमार सिंह 

मेरे बेटे को फांसी दो लकिन दूसरे बिहारियों को मत मारो : रेप आरोपी की माँ

आपको जैसा की पता होगा बीते कुछ दिन पहले गुजरात में एक 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार की घटना सामने आयी थी जिसके कारण गुजरात में बिहारियों पर हमले होने शुरू हो गए थे और इसी बिच रेप आरोपी की माँ ने सरकार से गुहार लगाई है।

मेरे बेटे को फांसी दो लकिन दूसरे बिहारियों को मत मारो : रेप आरोपी की माँ


दरअसल जीस 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार हुआ था उसका मुख्य आरोपी बिहार का रहने वाला था, बस इसी को गुजरात में कांग्रेस ने मुद्दा बनवाकर कांग्रेसी गुंडों द्वारा बिहारी तथा उत्तरप्रदेश के लोगो पर हमला शुरू करवा दिया।

इसी बिच आरोपी की माँ ने ये गुहार लगाई है की अगर मेरा बीटा दोषी है तो उसको फांसी दो लेकिन राज्य में रह रहे अन्य बिहारी लोगो को मत निशाना बनाओ।

आरोपी के पिता ने कहा की मेरा बीटा नाबालिग है और दिमागी रूप से कमजोर है सो उसकी करनी की सजा अन्य बिहारियों को नहीं मिलनी चाहिए।

सम्पादक : विशाल कुमार सिंह 

हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि का करे समर्थन।


किसी के शोर से भारत का वंदन रुक नही सकता, है जब तक राजीव ब्रम्हर्षि  खून में हलचल,भगवा झुक नही सकता ! 

जैसा की आप सब को पता है 19 सितम्बर को हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी फेसबुक के जरिये लाइव आये थे और अपनी मन की बात रख रहे थे जैसे और लोग रखते है लेकिन 20 सितम्बर को कुछ ऐसी घटना घटी जिसकी शायद ही किसी ने उम्मीद की होगी। 

क्या कहा राजीव ब्रम्हर्षि जी ने लाइव के दौरान : 



राजीव ब्रम्हर्षि जी का लाइव के दौरान सरकार से ये मांग थी की, मुहर्रम के दौरान जो ताजिया मुस्लिमो द्वारा निकाला जाता है वो हिन्दू बस्तियों से न गुजरे और अगर सरकार उनके ताजिये को हिन्दू बस्तियों से गुजरने की परमिशन देती है तो रामनवमी के दौरान हिन्दुओ द्वारा जो शोभा यात्रा निकाली जाती है उसको भी मुस्लिम बहुल इलाको से गुजरने की परमिशन दी जाये जो शायद सही भी था क्युकी हमारा देश हिन्दू बहुल देश है न की मुस्लिम बहुल देश।हम आपको बताना चाहेंगे की राजीव ब्रम्हर्षि जी का ये वीडियो हिन्दू भाइयो ने काफी पसंद किया और उनको अपना समर्थन भी दिया शायद इसलिए इस वीडियो को तक़रीबन 1 लाख बार देखा जा चूका है। 

क्या रहे इस लाइव वीडियो के परिणाम :
20 सितम्बर को कुछ ऐसी घटना घटी जो शायद सभी हिन्दुओ के लिए निन्दनिये तथा दुःख भरा था, जिहाँ हिन्दुओ के लिए बीते दिन आवाज उठा रहे राजीव ब्रम्हर्षि जी को पुलिस ने उनके निवास स्थान से उनको गिरफ्तार कर लिया। 

कैसा रहा इसका आक्रोश :
जब उठेगी हिन्दू तलवार कोहराम ही मच जाएगा, इतिहास की तुम चिंता ना करो पूरा भुगोल ही बदल जाएगा ! इन्ही शब्दों को अपना मूल आधार मानकर सभी हिन्दू युवाओ ने हिन्दू बब्बर शेर की रिहाई के लिए अपना आक्रोश व्यक्त करते हुए सदर थाने का शांतिपूर्ण तरीके से घेराव किया जहाँ हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी को पुलिस ने बंद कर रखा था। हिन्दू पुत्रो ने प्रशासन के खिलाफ जम कर नारेबाजी की साथ ही साथ जिस वाहन में हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी को कोर्ट में पेशी के लिए बैठाया गया था उस वाहन के आगे वीर हिन्दू पुत्र बैठ गए और अपने शेर की रिहाई की मांग करने लगे।हिन्दू पुत्रो की एकता देख प्रशासन इतना भयभीत हो गया की उसे और पुलिस कर्मी बुलाने परे लेकिन 3 घंटे के आक्रोश के बाद अंत में हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी के अनुरोध पर हिन्दू पुत्र शांत हुए और उन्हें कोर्ट जाने दिया। 

क्यों हुई गिरफ्तारी :
मौके पर मौजूद एसपी अजय कुमार ने कहा की हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी के एक वीडियो के वायरल होने के शिकायत के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया, वहीं हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी का कहना है की उनको पुलिस से कोई शिकायत नहीं है क्युकी अधिकारियो ने उन्हें बताया है की उनकी गिरफ्तारी सीएम के आदेश पर हुई है इसलिए मुझे जेल जाना ही होगा तबतक आप संगठन को आगे बढाने का काम करे। 

क्या है जनता की राये :
जैसा की आप सब को पता है आये दिन इस देश में ओवैशी भाई हिन्दुओ पर अभद्र टिपण्णी करते रहते है और सोशल मीडिया की अगर हम बात करे तो ऐसे हजारो उदाहरण मिल जायेंगे आपको जब मुसलमानो ने हिन्दुओ की आस्था तथा उनकी भावना को ठेश पहुंचाने की कोशिस की है लेकिन सरकार उनकी अभद्र टिप्पणियों पर आँख पर पट्टी बांध लेती है। हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी को गिरफ्तार करने का कोई कारण नहीं था क्युकी उन्होंने किसी के धर्म तथा आस्था को ठेस नहीं पहुँचाया अपितु बल्कि राम नवमी पर शोभा यात्रा में लगाए जाने वाले प्रतिबंधों पर अपना आक्रोश व्यक्त किया था। 
हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि जी के बारे में हम आपको बताना चाहेंगे की वो एक सच्चे देश भक्त होने के साथ साथ एक सच्चे इंसान भी है क्युकी उनकी संगठन हिन्दू पुत्र आये दिन भंडारे का आयोजन करती है जिसमे गरीब बच्चो तथा वो व्यक्ति जिनको दो वक़्त का भोजन भी नसीब नहीं होता है उनको हिन्दू पुत्र संगठन के कार्यकर्ता भंडारे के जरिये भोजन उपलब्ध करवाते है। आपको हम ये भी बता दे की बिहार में जब भी कही हिन्दुओ के दुखती नस पर कोई हाथ रखने की कोशिश करता है तब हिन्दू पुत्र संगठन के कार्यकर्ता जी जान से उनकी मदद करते है। 

भारत आईडिया सभी हिन्दू भाइयो से ये अनुरोध करता है की वो हिन्दू पुत्र संगठन के प्रमुख राजीव ब्रम्हर्षि को अपना पूरा समर्थन दे ताकि वो जल्द से जल्द रिहा हो और फिर से बिहार में हिन्दुओ की आवाज बने।





सम्पादक : विशाल कुमार सिंह 

बिहार में स्वर्णो द्वारा बंद के क्या परिणाम रहे।

बिहार में स्वर्णो द्वारा भारत बंद का सबसे ज्यादा असर देखा जा रहा है। 

बिहार में दोपहर के समय खगरिया जिले में एनएच 31 को स्वर्णो द्वारा बंद कर दिया गया। 

बिहार के कई जिलों में नरेंद्र मोदी जी विरुद्ध नारे लगे। 

बिहार में लगभग जिलों से एक ही मांग है की सुप्रीम के आदेश का पालन किया जाये। 

सुबह से  लगभग जिलों  की भारी तैनाती देखि जा रही है। 

मुज़फ़पुर में बंद समर्थको ने जनता अधिकार पार्टी के सांसद पप्पू यादव पर भी हमला किया। 

बिहार के जहानाबाद में बंद समर्थको ने पथराव किया जिसमे एएसपी संजय सिंह घायल हो गये। 

बिहार में आरा जिले में बंद समर्थको और पुलिस के बिच झड़प भी हुई जिसके बाद पुलिस को आशु के गोले छोड़ने पड़े। 

बिहार के कई जिलों में आगजनी, पथराव, जाम की खबर मिली है। 

नवादा जिले में बंद समर्थको ने बाजार में घूम घूम कर दुकाने बंद करवाई। 

बिहार के लाखिसराये में एनएच 80 को बंद समर्थको ने बंद किया। 

बिहार के छपरा में बंद समर्थको ने एनएच 18 जाम किया। 

बिहार के मधुबनी में बंद समर्थको ने एनएच 105 जाम लगाया। 

बिहार में आरा में लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को भी रोका गया 


सम्पादक  : विशाल कुमार सिंह 

Riot of United Opposition against Muzaffarpur Case / मुजफ्फरपुर कांड के खिलाफ संयुक्त विपक्ष की धरना



नई दिल्ली में शनिवार को जंतर मंतर पर मुजफ्फरपुर कांड के विरोध में धरने के दौरान राजद नेता तेजस्वी यादव के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, शरद यादव ,दिनेश त्रिवेदी सीताराम येचुरी और दी राजा ने मोमबत्ती जलाकर एकजुटता प्रदर्शित की ।

दिल्ली के जंतर मंतर में धरने पर तेजस्वी यादव ने कहा कि बच्चियों के गुनाहगारों को जल्द से जल्द फांसी की सजा हो। तेजस्वी के साथ देने शनिवार को ना सिर्फ आम आदमी पार्टी बल्कि कांग्रेस के नेता भी पहुंचे थे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ४० बेटियों के साथ कई साल में अमानवीय  अत्याचार होता था, दुख की बात है कि बिहार सरकार के सामने पहले भी यह बात सामने आई फिर भी संचालक को सरकारी फंड मिलता रहे और उधर अत्याचार चलता रहा हमारी मांग है कि अपराधियों को ३ माह के भीतर फांसी दिलाई जाए वीडियो के साथ गलत करने वाले दोषी हैं और उन्हें संरक्षण देने वाले उससे ज्यादा दोषी हैं एक निर्भया से यूपीए सरकार गिर गई थी। अब ४० निर्भया का मामला है ४० बार सिंहासन हिल जाएगा,ऐसा मानना है अरविंद केजरीवाल जी का..

● आज फिर मुजफ्फरपुर जा सकती है सीबीआई टीम।

सम्पादक : आशुतोष उपाध्याय
भारत आईडिया से जुड़े :
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 6200965675 .
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।



उपेंद्र कुशवाहा के बाद रामविलाश पाश्वान की पार्टी,लोजपा की तरफ से एनडीए को धमकी :


2019 के लोकसभा चुनाव के लिए एनडीए की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है।आपको जैसा की हमने पहले भी बताया था की उपेंद्र कुशवाहा ने नितीश कुमार के विरुद्ध बागी तेवर अपनाते हुए कहा था की नितीश कुमार को अब अपना पद छोर देना चाहिए। अब एलजेपी ने भी एनडीए के खिलाफ बागी तेवर अपना लिया है और इशारो-इशारो में कहा है की हमने बीजेपी को समर्थन मुदो के आधार पर दिया था, ये बयान रामविलाश पाश्वान की और से नहीं बल्कि उनके पुत्र चिराग पाश्वान की तरफ से आया है।दरसअल जस्टिस एके गोयल को एनजीटी का प्रमुख चुने जाने पर चिराग पाश्वान की तरफ से ये बयान आया है।

विस्तार में जाने तो जस्टिस एके गोयल ने सुप्रीम कोर्ट की बेंच के साथ फैसला सुनाया था की एस.सी और एस.टी एक्ट में बिना जाँच के गिरफ्तारी नहीं होगी, बस इसी बात को लेकर इनकी नियुक्ति विरोध करते हुए अब लोजपा ने कहा है की एनजीटी के अध्यछ आदर्श कुमार गोयल को बर्खास्त किया जाना चाहिए क्युकी वो सुप्रीम कोर्ट के उस पीठ का हिस्सा थे जिसने दलितों और आदिवाशियों पर अत्याचारों को रोकने के लिए बने कानून के प्रावधान को कथित तौर पर कमजोर किया था इसलिए कैबिनेट मंत्री रामविलाश पाश्वान के बेटे ने नाराजगी जताते हुए आदर्श कुमार गोयल को बर्खास्त करने की मांग की है।



सम्पादक : विशाल कुमार सिंह
भारत आईडिया से जुड़े :
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 .
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।


नीतीश कुमार ने राष्ट्रपति भवन में नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के समक्ष उठाया मुद्दा /Nitish Kumar raised issue in front of Prime Minister Modi at the meeting of the Governing Council of the Rashtrapati Bhawan


 बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दोहराई विशेष दर्जा की मांग।


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की है। राष्ट्रपति भवन में रविवार को नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समक्ष उन्होंने अपनी इस मांग को रखा। बिहार को क्यों यह दर्जा मिलने चाहिए इस पर भी उन्होंने विस्तार से अपनी बातें रखी।

जन अधिकार पार्टी का चक्का जाम, जगह-जगह ट्रेन रोक कर रहे प्रर्दशन / Jan adhikaar party politics, trying to divide society


मुख्यमंत्री ने कहा कि अंतर क्षेत्रीय और अंतर्राज्जीय विकास के स्तर में भिन्नता से संबंधित आंकड़ों की समीक्षा की जाए तो पाया जाएगा कि कई राज्य विकास के विभिन्न मापदंडों जैसे प्रति व्यक्ति आय, शिक्षा, स्वास्थ्य ,ऊर्जा और मानव विकास के सूचकांकों पर राष्ट्रीय औसत से काफी नीचे है।
तर्कसंगत आर्थिक रणनीति वही होगी जो ऐसे निवेश और राशि वितरण पद्धति को प्रोत्साहित करें जिससे पिछड़ी राज जियो को एक निर्धारित समय सीमा में विकास के राष्ट्रीय औसत तक पहुंचने में मदद मिले हमारी विशेष राज्य के दर्जे की मांग इसी अवधारणा पर आधारित है हमने लगातार केंद्र सरकार से बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग की है।

कुशवाहा बोले एनडीए से अलग नहीं होंगे / Kushwaha will not leave NDA


बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी का कहना था कि विशेष राज्य दर्जा मिलने से निजी निवेश को प्रोत्साहन मिलेगा।
 नीतीश कुमार ने जो भी कहा कि बिहार की हिस्सेदारी लगातार कम हुई:१४वे वित्त आयोग की अनुशंसा के तहत राज्यों के अंतरण को ३२ प्रतिशत से बढ़ाकर ४२ प्रतिशत किया गया है। यह मात्र एक संरचनात्मक परिवर्तन है। एक ओर कर अन्तरणों मैं वृद्धि के कारण राज्यों की हिस्सेदारी बड़ी है, वही दूसरी और केंद्र सरकार द्वारा केंद्रीय योजनाओं और केंद्र प्रायोजित योजनाओं के आवंटन में कटौती कर दी गई। इसके कारण बिहार का हिस्सा १०.९१ प्रतिशत से घटकर ९.६६ हो गया।११वे वित्त आयोग में बिहार के राजस्व हिस्सेदारी ११.५९ फीसदी थी,जो १२वे वित्त आयोग में घटकर ११.०३ फीसदी हो गई थी ।

बिहार में कही नितीश कुमार फिर से तो बीजेपी का साथ नहीं छोड़ेंगे


और भी बहुत सारे बातों पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी ने बातें की।

सम्पादक:आशुतोष उपाध्याय

बिहार में कही नितीश कुमार फिर से तो बीजेपी का साथ नहीं छोड़ेंगे

देश में जैसे जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे है तो सभी पार्टी अपनी अपनी जोरि बनाने में लगे वही कही शीटों को लेके बहस है, पढ़े पूरी खबर 



लोकसभा चुनाव की तैयारियों में राजनितिक दल जुट गए है। शीटों का बटवारा किसमे कितना होगा इसकी भी चर्चा सुरु हो चुकी है, चुकी बिहार में लोकसभा की 40 शीटे है और बिहार में बीजेपी और जेडीयू की गठबंधन है तो उसपर जेडीयू ने साफ किया है की बिहार में शीटों को लेकर कोई भ्रम किसी को न हो क्युकी लोकसभा के चुनाव में बीजेपी 15 और जेडीयू 25 शीटों पर चुनाव लड़ेंगे जिसमे एनडीए का बिहार का मुख्य चेहरा नितीश कुमार होंगे।


देखिये वीडियो में किशान आन्दोलन के नाम पर कैसे बर्बाद किया जा रहा है दूध ,ये हमारे किशान भाई नहीं बल्कि 
वो लोग है जो देश में शान्ति नहीं चाहते। 

आपको हम बतादे की मुख्यमंत्री के आवास पर जेडीयू कोर कमिटी के नेताओ की बैठक हुई। बैठक के बाद जेडीयू के मुख्या प्रवक्ता अजय अलोक ने रविवार को कहा की कुछ और दाल जेडीयू के साथ जुड़े इसलिए हमारी बैठक हुई थी। शीटों की बात करने पर अजय अलोक ने कहा की इसका फैसला पार्टी के शीर्ष नेता करेंगे लेकिन अभी हमारी बीजेपी से शीटों को लेकर कोई संसय नहीं है। अजय अलोक ने कहा की बिहार में उनकी पार्टी सबसे बरी पार्टी है इसलिए जेडीयू 25 शीटों पर और बीजेपी 15 शीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी।


आज का ये वीडियो शायद आप देख कर भाभूक होजाये लेकिन आप ये  वीडियो देखे इसमें भारतीय सेना के जवानो पर ये आतंकी कैसे छिप कर हमला कर रहे है और वीडियो भी आतंकियी ने ही बनाया है , जरूर देखे


उधर मीडिया में चल रही चर्चाओं के बिच जेडीयू महासचिव ने कहा है की बिहार में एनडीए का चेहरा नितीश कुमार ही होंगे। बैठक में शामिल होकर आये पवन वर्मा ने ये दवा किया है की बिहार में नितीश कुमार के नेतृत्वा में ही चुनाव लड़ा जायेगा। बैठक में जेडीयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी और पार्टी के रणनीतिकार प्रशांत किशोर भी शामिल थे।

सम्पादक : विशाल कुमार सिंह

भारत आईडिया से जुड़े :
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 .
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।