This is default featured slide 1 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 2 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 3 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 4 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 5 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

Showing posts with label world. Show all posts
Showing posts with label world. Show all posts

मानव अधिकार परिषद (Human Rights Council) के 43 वें सत्र(43rd Session) में भारत का कड़ा जवाब पकिस्तान को

मानव अधिकार परिषद (Human Rights Council)  के 43 वें सत्र(43rd Session) में एजेंडा आइटम 2 के तहत भारत द्वारा प्रतिक्रिया  देने का अधिकार: भारत को बदनाम करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ( international community ) को पाकिस्तानी ( Pakistan') उन्मादपूर्ण प्रतिक्रियाओं से गुमराह नहीं किया जा सकता है। दुनिया को पाक के मानवाधिकारों के रिकॉर्ड के बारे में पता है और एक कड़ा नियंत्रण इसे छिपा नहीं सकता है.



    ऐसी तमाम खबर पढ़ने और वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे और हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे:-
      





    आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 


    छोटे बच्चो और मेलानिया ट्रंप की ये तश्वीरे आपका दिल जित लेंगी

    मुख्य  बिंदु :-
    1. सर्वोदय विद्यालय पहुंचीं अमेरिका की फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रंप की एक तस्वीर सामने आई है.
    2. विद्यालय में 'हैप्पीनेस क्लास' का कार्यक्रम आयोजित किया गया था फर्स्ट लेडी के लिए 
    3. इस कार्यक्रम में वो एक छात्र को गले लगा रही है और यही तश्वीर वायरल हुई है.
    4. छात्र-छात्राओं ने मेलानिया को खुद की बनाई हुई मधुबनी पेंटिंग्स भी उपहार में दी.
    5. मेलानिया ने इस दौरान कहा, "पारंपरिक नृत्य प्रदर्शन से मेरा स्वागत करने के लिए धन्यवाद.



      मेलानिया ट्रंप ने आज दिल्ली के नानकपुरा स्थिति एक सरकारी स्कूल का दौरा किया:-
      अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप आज दिल्ली के नानकपुरा स्थिति एक सरकारी स्कूल का दौरा किया. इस दौरान बच्चों ने मेलानिया को बिहार के फेमस मधुबनी पेंटिंग से बनी कई कलाकृति गिफ्ट किया. गिफ्ट को देख वह काफी खुश हुई और उसके बारे में मौजूद लोगों से जानकारी दी. 


      मौजूद लोगो को नमस्ते भी बोला :-
      हैप्पीनेस क्लास' का देखने के बाद मेलानिया ट्रंप ने मौजूद लोगों को नमस्‍ते बोली. इस दौरान उनका सांस्‍कृति नृत्‍य के साथ इस शानदार स्‍वागत किया गया. स्कूल के बच्चों से उन्होंने बातचीत की और पढ़ाया भी. मेलानिया ने कहा कि  हैपीनेस शब्द प्रेरणा देने वाला है. पूरी दुनिया में ऐसे कार्यक्रम होने चाहिए.मेलानिया करीब एक घंटे तक स्कूल में रही. इस दौरान बच्चों के कार्यक्रम देखती रही और मुस्कुराती रही है. इस दौरान सुरक्षा के कड़े इंतेजाम थे. बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के दो दिवसीय दौरे पर आए हैं. आज उनके दौरे का अंतिम दिन हैं. पहले दिन वह अहमदाबाद में नमस्ते ट्रंप में सवा लाख लोगों को संबोधित किए. फिर आगरा में जाकर दोनों ने ताजमहल को देखा. ट्रंप के साथ बेटी और दामाद भी दौरे पर आए हैं. 


      देखे इस कार्यक्रम की कुछ बेहतरीन तश्वीरे :-
       






      ऐसी तमाम खबर पढ़ने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे                                                            
      इस खबर को यूट्यूब पर वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे। 




      फेसबुक पर अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लिखे करे। 
                       


      आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



      डोनाल्ड ट्रम्प के अलावा और कौन-कौन अमेरिकी राष्ट्रपति आया है भारत दौरे पर और क्या रहा उसका परिणाम ?

      मुख्य  बिंदु :-

      1. भारत आने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति का नाम डेविड आइजनहावर था.
      2. आइजनहावर 14 दिसंबर 1959 को भारत यात्रा पर आए थे.
      3. देश की राजधानी दिल्ली में आइजनहावर को 21 तोपों की पहली बार  सलामी दी गई थी.
      4. रिचर्ड निक्सन भारत आने वाले अमेरिका के दूसरे राष्ट्रपति थे .
      5. रिचर्ड निक्सन 31 जुलाई 1969 को भारत दौरे पर आए थे.
      6. आइजनहावर की तरह ही रिचर्ड निक्सन भी भारत के साथ अच्छे रिश्ते स्थापित करने में सफल नहीं हुए .
      7. 1971 के युद्ध में निक्सन ने पाकिस्तान का साथ दिया था.
      8. जिम्मी कार्टर भारत की यात्रा (1-3जनवरी, 1978) पर आने वाले तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
      9. जिम्मी कार्टर ने संसद को भी संबोधित किया था, उस वक्त भारत के प्रधानमंत्री जनता पार्टी के मोरारजी जी देसाई थे.
      10. जिम्मी कार्टर के नाम पर दिल्ली में एक गांव का नामकरण भी है .
      11. बिल क्लिंटन दो दशक बाद भारत की यात्रा पर आने वाले चौथे अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
      12. 19-25 मार्च, 2000 के दौरान भारत यात्रा पर आए थे। 
      13. बिल क्लिंटन जब भारत दौरे पर आए थे, उस वक्त भारत के प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई थे.
      14. जार्ज डब्ल्यू बुश भारत की यात्रा पर आने वाले पांचवें अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
      15. जॉर्ज डब्ल्यू बुश के दौरे के वक्त भारत के प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह थे.
      16. जार्ज डब्ल्यू बुश  अपनी पत्नी लउरा बुश के साथ 1-3 मार्च, 2006 को भारत यात्रा पर आये थे.
      17. जॉर्ज बुश के दौरे को परमाणु करार के लिए याद किया जाता है.
      18. बराक ओबामा भारत की यात्रा करने वाले छठे अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
      19. ओबामा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की तरफदारी की थी.
      20. ओबामा अमेरिका के इकलौते राष्ट्रपति हैं जिन्होंने भारत का दौरा दो बार किया है.
      21. आज भारत के दौरे पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप है.



        डेविड आइज़नहावर :-
        डोनाल्ड ट्रम्प की अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में पहली भारत यात्रा के तामझाम की चर्चा जोरों पर रहने के बीच अतीत में झांकने पर हमें अमेरिका के कई राष्ट्रपतियों की यात्राएं नजर आती हैं। यह सब लगभग साठ साल पहले तब शुरू हुआ था जब ड्वाइट डेविड आइज़नहावर द्विपक्षीय संबंधों को बल देने के लिए भारत की यात्रा करने वाले अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बने थे। वह नौ-14 दिसंबर, 1959 को भारत यात्रा पर आए थे।राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने पर उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गयी थी। वह तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद और प्रधानमं जवाहरलाल नेहरू से मिले थे।
        रिचर्ड निक्सन :-
        रिचर्ड निक्सन भारत की यात्रा (31 जुलाई-एक अगस्त, 1969) पर आने वाले दूसरे राष्ट्रपति थे। आइज़नहावर की तरह निक्सन की यात्रा कोई बड़ा संदेश नहीं दे पाई। वह एक दिन से भी कम समय यहां रहे और भारत को कुछ हासिल नहीं हुआ।1971 के बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में निक्सन पाकिस्तान के पक्ष में रहे। 

        जिम्मी कार्टर:-
        जिम्मी कार्टर भारत की यात्रा (1-3जनवरी, 1978) पर आने वाले तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति थे। उनकी यात्रा से महज कुछ महीने पहले जनता पार्टी के मोरारजी देसाई देश के प्रधानमं। बने थे। तीन दिन की इस यात्रा के दौरान कार्टर ने संसद को संबोधित किया और वह दिल्ली के समीप एक गांव में गए।इस गांव के नाम उनके नाम पर रखा गया.

        बिल क्लिंटन
        बिल क्लिंटन दो दशक बाद भारत की यात्रा पर आने वाले चौथे अमेरिकी राष्ट्रपति थे। वह 19-25 मार्च, 2000 के दौरान भारत यात्रा पर आए थे। कई लोग इसे पासा पलटने के रूप में देखते हैं जिस दौरान बिल क्लिंटन और तत्कालीन प्रधानमंत्री।अटल बिहारी वाजपेयी ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने के लिए एक दिशा तय की।यह यात्रा ऐसे समय हुई जब अमेरिका 1999 के परमाणु परीक्षण और कारगिल युद्ध के बाद भारत पर प्रतिबंध लगा चुका था। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि क्लिंटन की यात्रा भारत अमेरिका रणनीतिक एवं आर्थिक साझेदारी की शुरुआत को रेखांकित करती है।


        जार्ज डब्ल्यू बुश:-
        जार्ज डब्ल्यू बुश भारत की यात्रा पर आने वाले पांचवें अमेरिकी राष्ट्रपति थे। वह मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री के रूप में पहले कार्यकाल के दौरान अपनी पत्नी लउरा बुश के साथ 1-3 मार्च, 2006 को भारत यात्रा पर आये थे। बुश की इस यात्रा को परमाणु करार होने के लिए याद किया जाएगा।


        बराक ओबामा :-
        बराक ओबामा भारत की यात्रा करने वाले छठे अमेरिकी राष्ट्रपति थे। इस यात्रा से भारत अमेरिका रणनीतिक संबंधों को मजबूत होने का संदेश गया। वह दिल्ली के बजाय मुंबई पहुंचे। इसका उद्देश्य न केवल व्यापार बल्कि मुंबई हमले में मारे गए लोगों के परिवारों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करना था। ओबामा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की तरफदारी की। उन्होंने 24-27 जनवरी, 2015 को फिर भारत की यात्रा की। वह भारत की दो बार यात्रा करने वाले अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बने। इस बार वह गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि थे। 
        ऐसी तमाम खबर पढ़ने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे                                                            
        इस खबर को यूट्यूब पर वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे। 




        फेसबुक पर अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लिखे करे। 

                         


        आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



        झुग्गी झोपड़ियों को छिपाने के लिए चल रहा है गुजरात में काम ताकि दौरे में डोनाल्ड ट्रम्प को पता न चले

        मुख्य  बिंदु :-
        • 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आ रहे हैं भारत.
        • इंदिरा ब्रिज से जुड़ने वाली सड़क पर हो रहा है एक दीवार का निर्माण.
        • इंदिरा ब्रिज से जुड़ने वाली सड़क से हो सकता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप का काफिला गुजरे.
        • काफिले के रास्ते में तकरीबन 500 झुग्गी झोपड़ियों को दीवार के जरिए छिपाया जा रहा है.
        • सौंदर्यीकरण के तहत चल रहा है कार्य.
        • 2017 में भी जापान के प्रधानमंत्री के आने से पहले हुआ था सौंदर्यीकरण का कार्य



        24 फरवरी को डोनाल्ड ट्रंप आ रहे हैं भारत:-
        गुजरात का अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को इंदिरा ब्रिज से जोड़ने वाली सड़क के साथ एक दीवार का निर्माण कर रहा है। भारत दौरे पर आ रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 24 फरवरी को अहमदाबाद आने वाले हैं। संभावना जताई जा रही है अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रोड शो के लिए जिस मार्ग पर जाएंगे, उसी के बीच यह इलाका आता है। इस रास्ते के किनारे 500 झुग्गियां हैं। कहा जा रहा है कि ट्रम्प को यहां की झुग्गियां न दिखाई दे, इसलिए नगर निगम 7 फीट ऊंची लंबी दीवार खड़ा कर रहा है।यह अहमदाबाद हवाई अड्डे से गांधीनगर की ओर जाने वाले रास्ते में है। मोटेरा में हवाई अड्डे और सरदार पटेल स्टेडियम के आसपास सौंदर्यीकरण अभियान के तहत दीवार का निर्माण किया जा रहा है।


        6 से 7 फीट ऊंची दीवार की जा रही है खड़ी:-
        एएमसी के एक अधिकारी ने बताया, “करीब 600 मीटर की दूरी पर स्थित स्लम क्षेत्र को कवर करने के लिए 6-7 फीट ऊंची दीवार खड़ी की जा रही है। इसके बाद पौधारोपण अभियान चलाया जाएगा।” दशकों पुराने देव सरन या सरनियावास स्लम एरिया में 500 से ज्यादा झुग्गियां हैं और करीब 2500 लोग यहां रहते हैं। एएमसी सौंदर्यीकरम अभियान के तहत साबरमती रिवरफ्रंट स्ट्रेच इलाके में खजूर के पौधे लगा रही है।


        2017 में भी किया गया था ऐसा ही कार्य:-
        इसी तरह का सौंदर्यीकरण साल 2017 में अभियान जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और उनकी पत्नी आकी आबे के दो दिवसीय गुजरात दौरे के दौरान किया गया था। वे 12वें भारत-जापान वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने आए थे।

        ऐसी तमाम खबर पढ़ने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे                                                            
        इस खबर को यूट्यूब पर वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे। 




        फेसबुक पर अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लिखे करे। 
                         


        आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



        बगदादी के गंदे अंडरवीयर बने उसकी जान के दुश्मन.




        नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे बगदादी के गंदे अंडरवीयर बने उसकी जान के दुश्मन.

        समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस , हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



        दुनिया के लिए आंतक का पर्याय बन चुका इस्लामिक स्टेट के सरगना अबू बकर अल बगदादी की शनिवार को अपने ही बंकर में अमेरिकी सेना से घिरा देख खुद को अपने शरीर में लगा बम से उड़ा लिया. उसके मौते के बाद उसकी 100 प्रतिशत पुष्टि के लिए अमेरिकी सौनिकों ने गुप्चर द्वारा चुराये उसके गंदे अडंरवीयर से किया. मुखबिर ने ही अमेरिकी सेना को दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी के गुप्त ठिकाने के बारे में बताया था.

        मुखबिर ने ही दिया था बगदादी के ठिकाने का पूरा खाका
        डेलीमेल से मिली खबरों के मुताबिक मुखबिर को अमेरिकी सेना की मदद कर रहे कुर्दिश सशस्त्र बल ने अपनी निगरानी में रखा था. इस मुखबिर ने इदलिब में स्थित बगदादी के ठिकाने का पूरा खाका सुरक्षा बलों के समक्ष पेश किया था और एक-एक कमरे के लेआउट के बारे में बताया था.शनिवार शाम को अमेरिकी सेना ने उत्तर पश्चिमी सीरिया के इदलिब प्रांत के बारिशा गांव में बगदादी के ठिकाने पर धावा बोला था. इस कार्रवाई में बुरी तरह से घिरने के बाद बगदादी ने खुद को कमर में बंधे विस्फोटक से उड़ा लिया था. उसके साथ तीन मासूम बच्चों की भी मौत हो गई थी.




        दरअसल शनिवार को मौत से पहले बगदादी के ठिकाने पर हुई थी रेप
        कुर्दिश डेमोक्रेटिक फोर्सेज के एक सीनियर अधिकारी पोलाट कान के मुताबिक शनिवार को बगदादी के ठिकाने पर हुई रेप के बाद मुखबिर ने हमें उसके डर्टी अंडरवेअर दिए थे, जिनसे डीएनए टेस्ट में मदद मिली और शव की पूरी तरह से पहचान हुई कि यह अबू बकर-अल बगदादी का ही था.यही नहीं मुखबिर ने अबू बकर-अल बगदादी का ब्लड सैंपल भी मुहैया कराया था. इन सैंपलों के जरिए ही अमेरिकी इंटलिजेंस अधिकारियों ने बगदादी के शव की पुष्टि की. ट्रंप ने भी बगदादी को ढेर करने में मदद के लिए कुर्द संगठन को धन्यवाद दिया है. रविवार को उन्होंने कहा था, 'कुर्द मिलिट्री ऑपकेशन में शामिल नहीं थे, लेकिन उन्होंने कुछ ऐसी अहम जानकारियां दी थीं, जिनसे बड़ी मदद मिली.



        आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



        मौत का खेल जारी रखेगा इस्लामिक स्टेट.. अब ये है उसका नया सरगना



        दोस्तों फिर से एक बार स्वागत है आपका भारत आईडिया में तो दोस्तों आज हम जिस विषय पर बात करने वाले हैं वह विषय है,  मौत का खेल जारी रखेगा इस्लामिक स्टेट.. अब ये है उसका नया सरगना

        नीचे खबर की वीडियो देखे :





        अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारीअच्छी लगी हो तो हमारे चैनल को Subscribe कर हमारी छोटी सी Youtube फैमिली से ज़रूर जुड़े। नीचे दिए गए बटन को click कर हमारे चैनल को Subscribe करें.








        स्वामी चिन्मयानंद मामले में बड़ी खबर है। पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसआईटी ने सुबह करीब साढ़े आठ बजे छात्रा को उसके घर से गिरफ्तार किया। पिता ने गिरफ्तार करने की पुष्टि की है। छात्रा को मेडिकल के लिए ले जाया गया। उसके बाद छात्रा को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने छात्रा को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। छात्रा पर चिन्मयानंद से फिरौती मांगने का आरोप था। फिरौती का एक वीडियो सामने आया था, जिसके बाद छात्रा और उसके तीन साथियों पर पुलिस ने फिरौती मांगने का केस दर्ज किया था। 

        ध्यान देने योग्य है की भले ही ताजा और नए दावे में अमेरिकी फ़ौज के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का दावा हो की उन्होंने इस्लामिक स्टेट के प्रमुख बगदादी को मार गिराया है लेकिन इस्लामिक स्टेट ने भी इस लड़ाई को आगे जारी रखने का एलान कर दिया है.. इस्लामिक स्टेट ने अपना नया मुखिया उस आतंकी को घोषित किया है जिसने इस से पहले सद्दाम हुसैन की खूनी और रक्तपिपासु सेना का बेहद ही निर्दयता के साथ नेतृत्व किया था .. इसके बाद ये माना जा रहा है की आतंकवाद से लड़ाई अभी लम्बी चलेगी..

        अन्तराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आतंकी संगठन ISIS की कमान सद्दाम हुसैन की सैना के पूर्व अधिकारी अब्दुल्ला कार्दश को सौंपी गई है. इस से पहले अपनी आतंकी हरकतों के चलते कार्दश इराक की जेल में था जिसमे बगदादी भी बंद था. आखिरकार उसी जेल में ही दोनों के रिश्ते बन गये थे और धीरे धीरे वो बगदादी का विश्वास जीत कर ISIS का मुख्य नीति-निर्माता बन गया। कार्दश को प्रोफेसर के तौर पर जाना जाता है।माना जाता है कि कार्दश ने बगदादी की मौत से पहले ही कई सारी जिम्मेदारियों को निभाना शुरू कर दिया था। उसे बगदादी के हवाई हमले में घायल होने के बाद अगस्त में उत्तराधिकारी नियुक्त किया गया था। इस दौरान बगदादी डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित था। बीमारी की वजह से वह कामकाज में हिस्सा नहीं ले रहा था। वह केवल किसी योजना को लेकर हां या न बोला करता था।

        इस खबर पर आपकी क्या राय है टिप्पणी कर जरूर बताएं






        14 साल की लड़की से यौन संबंध बनाने के लिए 350 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंचा शख़्स, पुलिस ने किया गिरफ्तार.



        दोस्तों फिर से एक बार स्वागत है आपका भारत आईडिया में तो दोस्तों आज हम जिस विषय पर बात करने वाले हैं वह विषय है,  14 साल की लड़की से यौन संबंध बनाने के लिए 350 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंचा शख़्स, पुलिस ने किया गिरफ्तार.

        नीचे खबर की वीडियो देखे :





        अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारीअच्छी लगी हो तो हमारे चैनल को Subscribe कर हमारी छोटी सी Youtube फैमिली से ज़रूर जुड़े। नीचे दिए गए बटन को click कर हमारे चैनल को Subscribe करें.








        एक आदमी अमेरिका के इंडियानापोलिस उपनगर से विस्कॉन्सिन तक 350 किलोमीटर पैदल चलकर गया. उसने इतनी लंबी यात्रा एक 14 साल की लड़की से यौन संबंध बनाने के लिए तय किया. जिस लड़की से वह मिलने गया उससे इस शख्स की दोस्ती फेसबुक पर हुई थी. अब उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. एक आपराधिक शिकायत के अनुसार टॉमी ली जेनकिंस नामक यह शख्स पहले भी बाल यौन अपराधों के लिए कानून के रडार पर था. पुलिस को इस पर पहले ही शक था.

        1 अक्टूबर के अदालत के दस्तावेज बतातें हैं कि 32 वर्षीय जेनकिंस ने नेनाह की रहने वाली 14 वर्षीय काइली मैरी का फेसबुक फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार किया. काइली मैरी पुलिस द्वारा की जा रही स्टिंग में उनकी एजेंट थी. इसके बाद दोनों के बीच कई मैसेज पर बातचीत होने लगी. जेनकिंस बार-बार काइली मैरी को इंडियानापोलिस आकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने को कह रहा था. जब काइली ने मना कर दिया तो जेनकिंस ने कहा वह खुद उसके पास आएगा. इसके बाद वह 350 किमी उस 14 साल की लड़की से शारीरिक संबंध बनाने के लिए पैदल चल पड़ा.

        अपनी यात्रा के दौरान जेनकिंस काइली मैरी को अलग-अलग जगह से तस्वीर भेजता रहा. वह बताता रहा कि वह पैदल आ रहा है. इसके बाद जब वह विन्नैबागो काउंटी पहुंचा तो पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. उसपर नाबालिग को यौन गतिविधि में फंसाने जैसे गंभीर आरोप में गिरफ्तार किया गया है. यदि अब उसपर दोष साबित हो जाता है तो उसे 10 साल की जेल की न्यूनतम सजा मिलेगी.


        इस खबर पर आपकी क्या राय है टिप्पणी कर जरूर बताएं



        UN में मिशन कश्मीर फेल, डेढ़ फुट का रेड कॉर्पेट वेलकम,क्या इसलिए गई मलीहा लोधी की कुर्सी?



        दोस्तों फिर से एक बार स्वागत है आपका भारत आईडिया में तो दोस्तों आज हम जिस विषय पर बात करने वाले हैं वह विषय है,  "UN में मिशन कश्मीर फेल, डेढ़ फुट का रेड कॉर्पेट वेलकम...क्या इसलिए गई मलीहा लोधी की कुर्सी?

        नीचे खबर की वीडियो देखे :


        ###


        अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारीअच्छी लगी हो तो हमारे चैनल को Subscribe कर हमारी छोटी सी Youtube फैमिली से ज़रूर जुड़े। नीचे दिए गए बटन को click कर हमारे चैनल को Subscribe करें.








        जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान को दुनिया के हर मंच पर मुंह की खानी पड़ी है. हाल ही में संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान को बुरी हार का सामना करना पड़ा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतरराष्ट्रीय मंच पर दुनिया के सामने पाकिस्तान की पोल खोल दी. इन्हीं सबकुछ से बैकफुट पर पहुंचे इमरान खान ने अब एक्शन लिया है, संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की प्रतिनिधि मलीहा लोधी को UNGA खत्म होते ही हटा दिया गया.

        मलीहा लोधी की अगुवाई में पाकिस्तान को UN के मंच पर काफी कुछ झेलना पड़ा, जिसकी वजह से ये एक्शन हुआ है. जानें बीते दिनों मलीहा लोधी की अगुवाई में ऐसा क्या हुआ कि इमरान खान ने उन्हें हटा ही दिया...

        अब कौन बना पाकिस्तानी प्रतिनिधि?

        पाकिस्तानी सरकार ने मलीहा लोधी को संयुक्त राष्ट्र में प्रतिनिधि के पद से हटाया, वहां पर नई नियुक्ति की गई. पाकिस्तान की ओर से अब मुनीर अकरम UN में प्रतिनिधि बनाया गया है, लेकिन ये मामला भी विवादित हो गया. मुनीर अकरम पर अमेरिका में ही अपनी गर्लफ्रेंड को पीटने का आरोप लगा था, जिसके बाद अमेरिका ने पाकिस्तान को उन्हें पद से हटाने को कहा था.

        इस खबर पर आपकी क्या राय है टिप्पणी कर जरूर बताएं



        इंडोनेशिया जल्द होगा दुनिया का इकलौता हिन्दू राष्ट्र, रानी ने अपनाया हिंदू धर्म !




        नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे इंडोनेशिया के बारे में जहां की रानी ने सत्य सनातन हिन्दू धर्म अपना लिया है ।

        समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस , हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



        इस्लाम धर्म को मानने वाले ज्यादातर लोग बहुत ही कट्टर होते हैं और अपने मजहब को बड़ाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं. आपको बता दे की इंडोनेशिया में जावा सबसे बड़ा प्रदेश है, इंडोनेशिया के अधिकतर नागरिक जावा के ही रहने वाले है, इंडोनेशिया कई द्वीप समूहों से मिलकर बना है.


        जावा की राजकुमारी ‘कंजेंग राडेन‘ ने सनातन विधि विधानों को अपनाकर इस्लाम को त्याग दिया है और दीक्षा लेकर हिन्दू बन गयी हैं. कंजेंग राडेन ने अपनी शुद्धि सनातन धर्म के विधि विधानों से ही करवाई, और इसके बाद सनातन धर्म की दीक्षा ली और अब वो हिन्दू बन गयी हैं.





        कंजेंग राडेन का कहना है की, इंडोनेशिया का मूल धर्म सनातन धर्म ही है, और उन्होंने धर्मांतरण नहीं किया है, बल्कि वो अपने ही मूल धर्म में वापस आयी है. भारत में इसी प्रक्रिया को घर वापसी भी कहते है, ऐसे में हम कह सकते है की जावा की राजकुमारी कंजेंग राडेन ने घर वापसी ही करी है.

        कंजेंग का मानना है कि पुरे विश्व में सनातन ही सबका मूल है और उसमें से विकृत होकर ही सभी धर्म निकले हैं, चाहे फिर वह कोई भी धर्म या मजहब हो वो कहीं न कहीं सनातन का ही हिस्सा है और सनातन से ही लिया गया होता है। इससे पहले इंडोनेशिया के सुप्रीम कोर्ट की जज ने सनातन धर्म स्वीकार किया है. गौरतलब है कि इंडोनेशिया पूरी तरह से इस्लामिक राष्ट्र है और यहाँ मुस्लिम बाहुल्य हैं.





        आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



        मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी पाकिस्तान में गिरफ्तार हुआ हाफिज सईद ।




        नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे अतांकि हाफिज सईद के बारे में को की दुनिया का सबसे कुख्यात आतंकवादी है और अब खबर आ रही है कि पाकिस्तान पुलिस ने हाफिज सईद को गिरफ्तार कर लिया है।

        समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस , हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



        पाकिस्‍तानी मीडिया से इस वक्‍त एक बड़ी खबर आ रही है कि मोस्‍ट वांटेड आतंकी हाफिज सईद को गिरफ्तार किया गया है. टेरर फंडिंग केस में उसकी गिरफ्तारी हुई है. लाहौर से गुजरांवाला जाते वक्‍त उसको गिरफ्तार किया गया. पाकिस्‍तान में पंजाब के काउंटर टेररिज्‍म डिपार्टमेंट (CTD) ने उसको गिरफ्तार किया है. उसको न्‍यायिक हिरासत में भेजा गया.


         सूत्रों के मुताबिक इस घटनाक्रम पर भारत सरकार की भी नजर है. हाफिज को ऐसे वक्‍त गिरफ्तार किया गया है जब कल पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अमेरिकी दौरे पर जाने वाले हैं. उल्‍लेखनीय है कि जमात-उद-दावा आतंकी संगठन का सरगना हाफिज सईद 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमलों (26/11) का मुख्‍य साजिशकर्ता माना जाता है.





        हालांकि पिछले दिनों हाफिज सईद व कुछ अन्य आतंकियों ने अपने खिलाफ दर्ज आतंकवाद वित्तपोषण मामले को लाहौर उच्च न्यायालय में चुनौती दी है.

        पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया था कि सईद के साथ जिन अन्य आतंकवादियों ने अपने खिलाफ दर्ज आतंकवाद के मामले को चुनौती दी है, उनमें कुख्यात अब्दुर रहमान मक्की, आमिर हमजा, एम. यहया अजीज और चार अन्य शामिल हैं. इन सभी ने पाकिस्तान की केंद्र सरकार, पंजाब प्रांत की सरकार और देश के आतंकवाद रोधी विभाग (सीटीडी) को प्रतिवादी बनाया है.



        आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



        पाकिस्तान के 3 क्रोर बच्चे स्कूल जाने के बजाए घर बैठे है, जानिए चौंकाने वाले कारण




        नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे पाकिस्तान के बारे ने जहां बच्चे स्कूल नहीं जा पाने के मामले में  विश्व के दूसरे स्थान पर है. देश में करीब दो करोड़ तीन लाख बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं. जो बच्चे स्कूल जाते भी हैं, उनमें कई ठीक से लिख-पढ़ नहीं पाते. यह खुलासे एक रिपोर्ट में हुए हैं. 

        समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस है, हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जरूर जुड़े। 



        विल्सन सेंटर की ग्लोबल फेलो नादिया नवीवाला के नेतृत्व में यह रिपोर्ट तैयार की गई है. रिपोर्ट लगभग 100 पाकिस्तानी कक्षाओं का दौरा कर और सरकारी मंत्रियों, अन्य वरिष्ठ अधिकारियों, तकनीकी विशेषज्ञों और अंतर्राष्ट्रीय दानदाताओं के साथ चर्चा पर आधारित है, जिसमें शिक्षकों और छात्रों के साथ साक्षात्कार भी शामिल है. ऐसा नहीं है कि पाकिस्तान में शिक्षा पर बजट में कोई कमी है. पाकिस्तान में दुनिया का सबसे बड़ा बाहरी वित्त पोषित शिक्षा सुधार कार्यक्रम है और 2001 के बाद से शिक्षा का बजट 18 प्रतिशत बढ़ाया गया है. वास्तव में पाकिस्तान का शिक्षा बजट, वहां के रक्षा बजट को टक्कर देता है.

        इसीलिए विद्यार्थियों के पढ़ने और सीखने की कमी और शिक्षा की खराब गुणवत्ता और भी बड़ा मामला बनकर सामने आया है, जो अंतर्राष्ट्रीय दानदाताओं के साथ-साथ नीति निर्माताओं के लिए भी चिंता का विषय है. रिपोर्ट के अनुसार, स्कूलों में होने के बावजूद पाकिस्तान में तीसरे ग्रेड के केवल आधे से कम विद्यार्थी उर्दू या स्थानीय भाषाओं में एक वाक्य पढ़ सकते हैं. इसका मुख्य कारण शिक्षा में विदेशी भाषाओं का भी उपयोग है.





        परिणामस्वरूप विद्यार्थी अपने पाठों को समझने में असफल रहते हैं, जिससे बड़े पैमाने पर ड्रॉप-आउट की समस्या बढ़ जाती है. रिपोर्ट के लॉन्च समारोह में नादिया नवीवाला ने बताया कि उन्होंने पेशावर के एक लड़कियों के स्कूल में पाया कि वहां की कुल 120 छात्राओं में से केवल एक ही ठीक से पढ़ लिख पा रही थी. उन्होंने कहा, "इसकी साफ वजह यह है कि इस इलाके में लोगों की भाषा पश्तो है न की उर्दू. लेकिन जब बच्चा पढ़ने के लिए स्कूल में आता है तो उसे उर्दू में लिखना पढ़ना सिखाया जाता हैं, जिसे वह समझ नहीं पाता."

        ब्रिटिश काउंसिल के एक सर्वेक्षण में पाया गया कि पाकिस्तान  में अंग्रेजी माध्यम के निजी स्कूलों में 94 फीसदी शिक्षकों को खुद अंग्रेजी बोलनी नहीं आती है.




        आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



        पाकिस्तान के लिए आई बुरी खबर, हर भारतीय सुनकर खुश हो जाएगा - जानिए




        नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम पाकिस्तान के बारे में बात करने वाले हैं जो कि एक आतंकी देश है और उससे जुड़ी एक बड़ी खबर आ रही है ।

        समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस है, हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



        हमरा दुश्मन हो रहा है बर्बाद :
        भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान जो कि अपनी जमीन पर आतंकियों को बना देता है और उनको भारत के खिलाफ भड़का कर भारत पर हमले करवाता है जिससे भारत देश अब बहुत परेशान हो चुका है और इसीलिए पाकिस्तान से जुड़ी हर बुरी खबर भारत को बहुत अच्छी लगती है ऐसी ही एक बुरी खबर पाकिस्तान के लिए आई है जिसे सुनकर हर भारतीय खुश हो उठेगा ।




        पाकिस्तान में जीडीपी सबसे निचले स्तर पर :
        बताते हैं आपको कि यूनाइटेड नेशन की एक आर्थिक रिपोर्ट के अनुसार यह पूर्वानुमान जताया गया है कि इस साल 2019 में पाकिस्तान की जीडीपी का आनुमान सबसे कम 4.2 प्रतिशत और 2020 में इससे भी कम 4% रह सकता है । इस रिपोर्ट में बड़ी बात यह है कि इस रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान की जीडीपी नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे रह सकती है । पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति दिन प्रति दिन बहुत ही बुरी होती जा रही है और अब उसके पास इतने पैसे भी नहीं बचे हैं जिससे कि वह अपना देश ठीक तरीके से चला सके पाकिस्तानी सरकार के लिए यह बहुत बड़ी चिंता बन चुकी है और इसी कारण वंश पाकिस्तानी सरकार के मंत्री दूसरे देशों में जा जाकर आर्थिक मदद जुटा रहे हैं ताकि पाकिस्तान को आर्थिक संकट से उभार आ जा सके ।



        आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



        वाशरूम समझकर पाकिस्तानी यात्री ने खोल दिया प्लेन का इमरजेंसी डोर, जानिए फिर क्या हुआ ।




        पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) की उड़ान में सवार एक महिला यात्री से गलती से विमान का इमरजेंसी डोर वॉशरूम समझकर खोल दिया, जिससे अफरा-तफरी मच गई. पाकिस्तान की राष्ट्रीय विमान कंपनी ने कहा कि विमान शनिवार को तड़के मैनचेस्टर हवाई अड्डे के रनवे पर खड़ा था. उसी दौरान महिला यात्री ने बटन दबा दिया, जिससे आपातकालीन निकास द्वार खुल गया.




        पीआईए के प्रवक्ता ने कहा, 'पीआईए की मैनचेस्टर उड़ान PK-702 में 7 घंटे की देरी हुई. रवानगी में शुक्रवार रात उस समय देरी हुई जब विमान की एक यात्री ने गलती से विमान का आपातकालीन निकास द्वार खोल दिया, जिससे आपातकालीन गेट ओपन हो गया.' घटना के बाद मानक संचालन प्रक्रिया के तहत करीब 40 यात्रियों को उनके सामान के साथ विमान से नीचे उतारा गया.





        पाकिस्तान में लहराया हिंदुस्तान का तिरंगा…




        आये दिन LOC पर सीजफॉयर का उलंघन करने वाली और कायरों की पीठ पीछे वार करने वाली पाकिस्तानी फ़ौज, भारत से किस कदर नफरत करता है इस बात से हम सब वाकिफ़ हैं। पकिस्तान के करांची के एक स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान कुछ छात्रों ने एक भारतीय गाने पर डांस किया और भारत का राष्ट्रीय ध्वज लहराया जिसके बाद पाकिस्तान के 9 अधिकारियों ने इस स्कूल के पंजीकरण को ही निलंबित कर दिया जिससे देश की गरिमा को ठेस पहुंची।

        हमारे फेसबुक पेज को भी जरूर लाइक करे। 


        वो तीन देश जिनसे नजदीकियां बढ़ाना चाहता है पाकिस्तान.

        नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका भारत आइडिया ने टो दोस्तो आज हम बात करने वाले है पाकिस्तान के बारे में को एक आतंकवादी देश है.पाकिस्तान खुद को मजबूत करने के लिए कुछ देशों से संबंध बढ़ाना चाहता है, लेकीन पाकिस्तान में आतंकवादियों को पनाह दी जाती है जिसके कारण इस देश को दुनिया के लोग सबसे खतरनाक और आतंकवादी देश मानते है.आज हम आप लोगों को उन 3 देशों के बारे में बताने जा रहे है जिनसे पाकिस्तान दोस्ती करना चाहता है.तो चलिए जानते है उन तीन देशों के बारे में.


        बांग्लादेश
        बांग्लादेश सन् 1971 में आजाद हुआ था और एक स्वतंत्र गणराज्य बना था.वर्तमान में बांग्लादेश एक समृद्ध और खुशहाल देश है.पाकिस्तान बांग्लादेश से दोस्ती करना चाहता है जिससे वह उसके साथ व्यापार कर सके.

        इजराइल
        इजराइल एक ऐसा देश है जो हमेशा से ही आतंकवाद का विरोध करता रहा है. पाकिस्तान में आतंकवादियों को पनाह दी जाती है जिसके कारण इजराइल पाकिस्तान को पसंद नही करता है.लेकीन पाकिस्तान इजराइल से दोस्ती कर अपनी ताकत को बढ़ाना चाहता है.

        रुस
        रुस दुनिया का दूसरा सबसे शक्तिशाली देश है.आपको बता दें रुस का संबंध भारत के साथ अच्छा है.रुस हमेशा से ही पाकिस्तान के मामलों में भारत की मदद करता रहा है.पाकिस्तान रुस से दोस्ती करके अपने आप शक्तिशाली देश बनाना चाहता है.

        चीन को खुश करने के लिए पाकिस्तान बढ़ा रहा है गधों कि संख्या, ये है कारण ?..

        नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं पाकिस्तान के बारे में जहां पर गधों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. आपको जानकर हैरानी होगी यह संख्या लाखों में हो चुकी है और पाकिस्तान का  गधों की संख्या बढ़ाने का कारण सिर्फ और सिर्फ चीन है,  तो आइए जानते हैं इस खबर के बारे में.



        क्या है खबर :
        जैसा कि आप सब जानते है पाकिस्‍तान पर चीन की मेहरबानी की खबरें अक्सर हमें मिलती रहती है. वहीं, पाकिस्‍तान की ओर से भी चीन को खुश करने के लिए हर तरीके अपनाए जाते हैं. यही वजह है कि पाकिस्‍तान पिछले कई सालों से चीन के लिए गधों की संख्‍या बढ़ा रहा है और इसका नतीजा ये है कि गधों की संख्‍या के मामले में पाकिस्‍तान तीसरा सबसे बड़ा देश बन गया है. पाक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गधों के मामले में चीन और इथोपिया अब भी पाकिस्‍तान से आगे हैं. 


        लाखो में गधों कि संख्या पहुंच चुकी है पाकिस्तान में :
        इसी साल पाकिस्तान के आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में भी बताया गया था कि देश में गधों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है. बीते अप्रैल माह में जारी रिपोर्ट के मुताबिक 2017-18 में गधों की संख्‍या में 1 लाख का इजाफा हुआ है.  इसके मुताबिक 2017-18 में इनकी संख्या बढ़ कर 53 लाख हो गई है. इससे पहले 2015-16 में गधों की संख्या 51 लाख से ज्‍यादा थी, वहीं 2016-17 में ये संख्या बढ़ कर 52 लाख के करीब रही. दरअसल, पाकिस्तान में गधों की संख्‍या में बढ़ोतरी की सबसे बड़ी वजह चीन है.


        चीन में है गधों कि मांग :
        चीन की ओर से पाकिस्‍तानी गधों की सबसे ज्‍यादा खरीददारी की जाती है. चीन में गधों की खाल काफी उपयोगी मानी जाती है.  गधे की खाल से जिलेटिन बनता है जिसे चीन में इजीयो भी कहते हैं.  पुराने समय से इसका उपयोग ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बनाने वाली चीनी दवाई के तौर पर किया जाता है. पीपीपी इसके अलावा चीन में गधे के मांस की भी काफी मांग है.  भारी मांग और उत्‍पादन कम होने की वजह से चीन को पाकिस्‍तान जैसे देशों की ओर रुख करना पड़ रहा है.

        शर्मनाक अमेरिकी पब ने टॉयलेट में लगाई हिंदू देवी देवताओं की तस्वीर बाद में मांगी माफी.



        क्या है मामला:
        जी हां दोस्तों आपने सही सुना जैसा कि आप सब को पता है आए दिन दूसरे देश तथा दूसरे धर्म के लोग सत्य सनातन धर्म का बिना आधार मजाक बनाते रहते हैं और उसी क्रम में फिर से एक बार अमेरिका में सत्य सनातन धर्म के देवी देवताओं का मजाक बनाया गया है. अक्सर पश्चिमी देशों में यह देखा गया है कि शौचालय में सीटों पर भगवान गणेश की तस्वीर तथा जूतों पर अराधनिए भगवान श्री राम की तस्वीर दर्शाई जाती रही है.

        हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे। 

        न्यूयॉर्क में सत्य सनातन धर्म का किया गया अपमान:
        दरअसल न्यूयॉर्क के एक पब से ऐसी घटना सामने आई है जो कि बेहद ही शर्मनाक है. पूरी जानकारी के लिए आपको बताना चाहेंगे कि, अंकिता शर्मा जो कि एक भारतीय हैं और फिलहाल के लिए उनका निवास स्थान अमेरिका का न्यूयॉर्क शहर है . अंकिता वीकेंड की पार्टी के लिए शनिवार को एक पब में गई हुई थी और उसी दौरान वो फ्रेश होने के लिए उस पब की वीआईपी बाथरूम में गई जहां पर उन्होंने उस बाथरूम की टाइल्स पर सत्य सनातन धर्म के हिंदू देवी देवताओं की तस्वीर जड़ी हुई देखी जिसके बाद वह गुस्से से तिलमिला गई.




        इस घटना के बाद पब के मालिक ने मांगी माफी :
        इस घटना के बाद अंकिता ने एक पोस्ट के जरिए पत्र लिखते हुए लिखा कि मैं बीते महीने एक पब में गई थी जहां पर मुझे बीआईपी बाथरूम में सत्य सनातन धर्म के हिंदू देवी देवताओं की तस्वीर जड़ी हुई दिखी, दीवारों पर भगवान गणेश, माता सरस्वती, माता काली तथा भगवान शिव जैसे हिंदू देवी देवताओं की छवियां लगी हुई थी जिसके लिए पब के मालिक को माफी मांगते हुए उन तस्वीरों को तुरंत से तुरंत हटाना चाहिए. इस पोस्ट के वायरल होने के बाद पब के मालिक ने माफी मांगते हुए उन तस्वीरों को जल्द से जल्द हटाने की बात कही है.