This is default featured slide 1 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 2 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 3 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 4 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 5 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

Showing posts with label GUJRAAT. Show all posts
Showing posts with label GUJRAAT. Show all posts

डोनाल्ड ट्रम्प के अलावा और कौन-कौन अमेरिकी राष्ट्रपति आया है भारत दौरे पर और क्या रहा उसका परिणाम ?

मुख्य  बिंदु :-

  1. भारत आने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति का नाम डेविड आइजनहावर था.
  2. आइजनहावर 14 दिसंबर 1959 को भारत यात्रा पर आए थे.
  3. देश की राजधानी दिल्ली में आइजनहावर को 21 तोपों की पहली बार  सलामी दी गई थी.
  4. रिचर्ड निक्सन भारत आने वाले अमेरिका के दूसरे राष्ट्रपति थे .
  5. रिचर्ड निक्सन 31 जुलाई 1969 को भारत दौरे पर आए थे.
  6. आइजनहावर की तरह ही रिचर्ड निक्सन भी भारत के साथ अच्छे रिश्ते स्थापित करने में सफल नहीं हुए .
  7. 1971 के युद्ध में निक्सन ने पाकिस्तान का साथ दिया था.
  8. जिम्मी कार्टर भारत की यात्रा (1-3जनवरी, 1978) पर आने वाले तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
  9. जिम्मी कार्टर ने संसद को भी संबोधित किया था, उस वक्त भारत के प्रधानमंत्री जनता पार्टी के मोरारजी जी देसाई थे.
  10. जिम्मी कार्टर के नाम पर दिल्ली में एक गांव का नामकरण भी है .
  11. बिल क्लिंटन दो दशक बाद भारत की यात्रा पर आने वाले चौथे अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
  12. 19-25 मार्च, 2000 के दौरान भारत यात्रा पर आए थे। 
  13. बिल क्लिंटन जब भारत दौरे पर आए थे, उस वक्त भारत के प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई थे.
  14. जार्ज डब्ल्यू बुश भारत की यात्रा पर आने वाले पांचवें अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
  15. जॉर्ज डब्ल्यू बुश के दौरे के वक्त भारत के प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह थे.
  16. जार्ज डब्ल्यू बुश  अपनी पत्नी लउरा बुश के साथ 1-3 मार्च, 2006 को भारत यात्रा पर आये थे.
  17. जॉर्ज बुश के दौरे को परमाणु करार के लिए याद किया जाता है.
  18. बराक ओबामा भारत की यात्रा करने वाले छठे अमेरिकी राष्ट्रपति थे.
  19. ओबामा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की तरफदारी की थी.
  20. ओबामा अमेरिका के इकलौते राष्ट्रपति हैं जिन्होंने भारत का दौरा दो बार किया है.
  21. आज भारत के दौरे पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप है.



    डेविड आइज़नहावर :-
    डोनाल्ड ट्रम्प की अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में पहली भारत यात्रा के तामझाम की चर्चा जोरों पर रहने के बीच अतीत में झांकने पर हमें अमेरिका के कई राष्ट्रपतियों की यात्राएं नजर आती हैं। यह सब लगभग साठ साल पहले तब शुरू हुआ था जब ड्वाइट डेविड आइज़नहावर द्विपक्षीय संबंधों को बल देने के लिए भारत की यात्रा करने वाले अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बने थे। वह नौ-14 दिसंबर, 1959 को भारत यात्रा पर आए थे।राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने पर उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गयी थी। वह तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद और प्रधानमं जवाहरलाल नेहरू से मिले थे।
    रिचर्ड निक्सन :-
    रिचर्ड निक्सन भारत की यात्रा (31 जुलाई-एक अगस्त, 1969) पर आने वाले दूसरे राष्ट्रपति थे। आइज़नहावर की तरह निक्सन की यात्रा कोई बड़ा संदेश नहीं दे पाई। वह एक दिन से भी कम समय यहां रहे और भारत को कुछ हासिल नहीं हुआ।1971 के बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में निक्सन पाकिस्तान के पक्ष में रहे। 

    जिम्मी कार्टर:-
    जिम्मी कार्टर भारत की यात्रा (1-3जनवरी, 1978) पर आने वाले तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति थे। उनकी यात्रा से महज कुछ महीने पहले जनता पार्टी के मोरारजी देसाई देश के प्रधानमं। बने थे। तीन दिन की इस यात्रा के दौरान कार्टर ने संसद को संबोधित किया और वह दिल्ली के समीप एक गांव में गए।इस गांव के नाम उनके नाम पर रखा गया.

    बिल क्लिंटन
    बिल क्लिंटन दो दशक बाद भारत की यात्रा पर आने वाले चौथे अमेरिकी राष्ट्रपति थे। वह 19-25 मार्च, 2000 के दौरान भारत यात्रा पर आए थे। कई लोग इसे पासा पलटने के रूप में देखते हैं जिस दौरान बिल क्लिंटन और तत्कालीन प्रधानमंत्री।अटल बिहारी वाजपेयी ने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने के लिए एक दिशा तय की।यह यात्रा ऐसे समय हुई जब अमेरिका 1999 के परमाणु परीक्षण और कारगिल युद्ध के बाद भारत पर प्रतिबंध लगा चुका था। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि क्लिंटन की यात्रा भारत अमेरिका रणनीतिक एवं आर्थिक साझेदारी की शुरुआत को रेखांकित करती है।


    जार्ज डब्ल्यू बुश:-
    जार्ज डब्ल्यू बुश भारत की यात्रा पर आने वाले पांचवें अमेरिकी राष्ट्रपति थे। वह मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री के रूप में पहले कार्यकाल के दौरान अपनी पत्नी लउरा बुश के साथ 1-3 मार्च, 2006 को भारत यात्रा पर आये थे। बुश की इस यात्रा को परमाणु करार होने के लिए याद किया जाएगा।


    बराक ओबामा :-
    बराक ओबामा भारत की यात्रा करने वाले छठे अमेरिकी राष्ट्रपति थे। इस यात्रा से भारत अमेरिका रणनीतिक संबंधों को मजबूत होने का संदेश गया। वह दिल्ली के बजाय मुंबई पहुंचे। इसका उद्देश्य न केवल व्यापार बल्कि मुंबई हमले में मारे गए लोगों के परिवारों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करना था। ओबामा ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की तरफदारी की। उन्होंने 24-27 जनवरी, 2015 को फिर भारत की यात्रा की। वह भारत की दो बार यात्रा करने वाले अमेरिका के पहले राष्ट्रपति बने। इस बार वह गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि थे। 
    ऐसी तमाम खबर पढ़ने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे                                                            
    इस खबर को यूट्यूब पर वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे। 




    फेसबुक पर अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लिखे करे। 

                     


    आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



    झुग्गी झोपड़ियों को छिपाने के लिए चल रहा है गुजरात में काम ताकि दौरे में डोनाल्ड ट्रम्प को पता न चले

    मुख्य  बिंदु :-
    • 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आ रहे हैं भारत.
    • इंदिरा ब्रिज से जुड़ने वाली सड़क पर हो रहा है एक दीवार का निर्माण.
    • इंदिरा ब्रिज से जुड़ने वाली सड़क से हो सकता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप का काफिला गुजरे.
    • काफिले के रास्ते में तकरीबन 500 झुग्गी झोपड़ियों को दीवार के जरिए छिपाया जा रहा है.
    • सौंदर्यीकरण के तहत चल रहा है कार्य.
    • 2017 में भी जापान के प्रधानमंत्री के आने से पहले हुआ था सौंदर्यीकरण का कार्य



    24 फरवरी को डोनाल्ड ट्रंप आ रहे हैं भारत:-
    गुजरात का अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को इंदिरा ब्रिज से जोड़ने वाली सड़क के साथ एक दीवार का निर्माण कर रहा है। भारत दौरे पर आ रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 24 फरवरी को अहमदाबाद आने वाले हैं। संभावना जताई जा रही है अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रोड शो के लिए जिस मार्ग पर जाएंगे, उसी के बीच यह इलाका आता है। इस रास्ते के किनारे 500 झुग्गियां हैं। कहा जा रहा है कि ट्रम्प को यहां की झुग्गियां न दिखाई दे, इसलिए नगर निगम 7 फीट ऊंची लंबी दीवार खड़ा कर रहा है।यह अहमदाबाद हवाई अड्डे से गांधीनगर की ओर जाने वाले रास्ते में है। मोटेरा में हवाई अड्डे और सरदार पटेल स्टेडियम के आसपास सौंदर्यीकरण अभियान के तहत दीवार का निर्माण किया जा रहा है।


    6 से 7 फीट ऊंची दीवार की जा रही है खड़ी:-
    एएमसी के एक अधिकारी ने बताया, “करीब 600 मीटर की दूरी पर स्थित स्लम क्षेत्र को कवर करने के लिए 6-7 फीट ऊंची दीवार खड़ी की जा रही है। इसके बाद पौधारोपण अभियान चलाया जाएगा।” दशकों पुराने देव सरन या सरनियावास स्लम एरिया में 500 से ज्यादा झुग्गियां हैं और करीब 2500 लोग यहां रहते हैं। एएमसी सौंदर्यीकरम अभियान के तहत साबरमती रिवरफ्रंट स्ट्रेच इलाके में खजूर के पौधे लगा रही है।


    2017 में भी किया गया था ऐसा ही कार्य:-
    इसी तरह का सौंदर्यीकरण साल 2017 में अभियान जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और उनकी पत्नी आकी आबे के दो दिवसीय गुजरात दौरे के दौरान किया गया था। वे 12वें भारत-जापान वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने आए थे।

    ऐसी तमाम खबर पढ़ने के लिए हमारे एप्प को अभी इनस्टॉल करे                                                            
    इस खबर को यूट्यूब पर वीडियो के माध्यम से देखने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे। 




    फेसबुक पर अपडेट पाने के लिए हमारे पेज को लिखे करे। 
                     


    आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



    अल्पेश ठाकोर ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा, राहुल गांधी पर लगाए अनेक आरोप ।




    नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे अल्पेश ठाकोर के बारे में जिन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है तथा राहुल गांधी पर इल्ज़ाम लगाते हुए कहा है की वो धोखेबाज है।

    समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस है, हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



    गुजरात में राज्यसभा की दो सीटों के लिए उपचुनाव हो रहा है. कांग्रेस ने व्हिप जारी किया है. इसके बावजूद कांग्रेस के दो विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है. कांग्रेस बागी विधायक अल्पेश ठाकोर और धवन झाला ने बीजेपी प्रत्याशी के पक्ष में वोट किए हैं. क्रॉस वोटिंग करने के बाद अल्पेश ठाकोर ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया.

    इस्तीफा देने के बाद अल्पेश ठाकोर ने कहा कि मैंने राहुल गांधी पर भरोसा करके कांग्रेस पार्टी ज्वॉइन की थी, लेकिन दुर्भाग्यवश उन्होंने हमारे लिए कुछ नहीं किया. पार्टी जनाधार खो चुकी है, और हमारे साथ द्रोह हुआ है. हर बार हमें बेइज्जत किया गया, इसलिए मैंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है और कांग्रेस छोड़ दी है.




    वोटिंग करने के बाद अल्पेश ठाकोर ने कहा कि मैंने अंतर आत्मा की आवाज सुनकर और राष्ट्रीय नेतृत्व को ध्यान में रखकर मतदान किया है. जो पार्टी (कांग्रेस) जन अधिकार खो चुकी है और जिस पार्टी ने हमारे साथ द्रोह किया है, उसे मद्देनजर रखकर वोटिंग किया है.



    आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



    बड़ी खबर, गुजरात के कछ में अब पकिस्तान के ड्रोन को भारतीय सेना ने मार गिराया।


    क्या है खबर ?
    जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आज तड़के जमकर बमबारी की. बताया जा रहा कि वायुसेना ने करीब 12 मिराज 2000 विमानों से PoK में मौजूद आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया है. पाकिस्तानी वायु सेना (पीएएफ) की जवाबी कार्रवाई के बाद विमान वापस लौट गए. वहीं भारतीय सुरक्षा बलों को पाकिस्तान की सीमा सटे गुजरात के कच्छ इलाके में एक और कामयाबी मिली है. भारतीय सुरक्षा बलों ने सुबह साढ़े छह बजे पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराये.


    सुबह 1000 किलो विस्फोटक से वायुसेना ने किया हमला :
    आपको हम बताना चाहेंगे की भारतीय वायुसेना ने सोमवार को पुलवामा आतंकी हमले का बदला लेते हुए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में घुसकर कई आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया है. भारत ने PoK में चल रहे आतंकी कैंपों को निशाना बनाते हुए भारतीय वायुसेना के विमानों से बमबारी की. सूत्रों के हवाले से खबर है कि इस ऑपरेशन को भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 विमानों ने अंजाम दिया. वायुसेना के मिराज 2000 ने पीओके में घुसकर जैश ए मोहम्मद के आंतकी ठिकानों पर 1000 किलों से ज्यादा के बम गिराए. भारतीय वायुसेना ने ये सर्जिकल स्ट्राइक आज सुबह 03.30 बजे की. भारतीय वायुसेना ने जैश ए मोहम्मद के कई ठिकानों को तबाह कर दिया है. अभी तक भारतीय सेना की तरफ से इस हमले के बारे में कोई बयान नहीं आया है. लेकिन पुलवामा हमले के बाद हुई इस कार्रवाई को पाकिस्तान ने स्वीकार कर लिया है.

    पाकिस्तानी सेना ने माना हमले के बारे में :
    पाकिस्तानी सेना ने माना है कि भारतीय वायुसेना पीओके में दाखिल हुई है. पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ्फूर ने दावा किया कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने लाइन ऑफ कंट्रोल का उल्लंघन किया है. पाक सेना के प्रवक्ता ने ट्वीट किया, 'भारतीय वायुसेना ने एलओसी का उल्लंघन किया. हमने तुरंत जवाब दिया, जिसके बाद भारतीय वायुसेना के विमान वापस अपनी सीमा में लौट गए.
    गफ्फूर ने भी की ट्वीट:
    इसके बाद एक अन्य ट्वीट में गफ्फूर लिखा.'भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर से घुसने की कोशिश की, समय रहते ही पाकिस्तान एयरफोर्स ने जवाबी कार्रवाई की. जिसके बाद वह बालकोट की तरफ वापस लौट गया. किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है.
    हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करे। 

    शशि थरूर का एक और विवादित बयान पूछा गांधी की प्रतिमा क्यों नहीं बनाई.


    नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका भारत आइडिया में, दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं शशि थरूर के बारे में जिन्होंने स्टैचू ऑफ यूनिटी पर एक आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी ने महात्मा गांधी की स्टैचू क्यों नहीं बनाई.

    शशि थरूर का एक और विवादित बयान पूछा गांधी की प्रतिमा क्यों नहीं बनाई.

    क्या है मामला:
    जी हां दोस्तों आपने सही सुना कांग्रेस नेता शशि थरूर ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी से स्टैचू ऑफ यूनिटी पर सवाल उठाते हुए पूछा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल महात्मा गांधी के शिष्य थे सो महात्मा गांधी की प्रतिमा क्यों नहीं बनाई गई. जिला कांग्रेस समिति कार्यालय में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि देश में महात्मा गांधी की इस तरह की कोई विशाल प्रतिमा नहीं है. उन्होंने पूछा,'महात्मा गांधी की सबसे बड़ी प्रतिमा संसद में है लेकिन उनके शिष्य के लिए 182 मीटर ऊंची प्रतिमा बनाना कितना जायज है. शशि थरूर ने कहा कि सरदार पटेल एक बहुत सरल व्यक्ति थे जो गांधी के शिष्य के रूप में जाने जाते थे मैं सो मैं एक सवाल पूछ रहा हूं..... क्या सादगी पसंद एक व्यक्ति और एक सच्चे गांधीवादी पटेल की इस तरह की भव्य प्रतिमा बनाया जाना ठीक है.


    क्या सवाल उठाए शशि थरूर ने:
    कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि बीजेपी के पास मेरे इस सवाल का जवाब नहीं है की उन्होंने भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की इतनी बड़ी प्रतिमा बनाने का निर्णय क्यों नहीं लिया, उन्होंने आरोप लगाया कि यही कारण है कि वे महात्मा गांधी के अहिंसा के सिद्धांतों में विश्वास नहीं करते. शशि थरूर यहीं नहीं रुके और भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी सिर्फ और सिर्फ स्वतंत्रता सेनानियों और पटेल जैसे राष्ट्रीय नायकों की विरासत को हाईजैक करने का प्रयास कर रही है.शशि थरूर ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल एक कांग्रेस नेता थे और भारतीय जनता पार्टी को उन्हें अपनाने का कोई हक नहीं दिया जाएगा.


    शशि थरूर को भारत आइडिया का जवाब:
    भारत आईडिया कांग्रेस तथा शशि थरूर से यह सवाल पूछना चाहता है कि, क्या भारत को आजादी सिर्फ कांग्रेस ने दिलवाई है या फिर और भी व्यक्तियों का इसमें योगदान रहा था ? कांग्रेस ने भारत की आजादी को सिर्फ और सिर्फ एक परिवार की राजनीति बना कर रख दिया, पिछले 70 सालों में सरदार बल्लभ भाई पटेल को वह स्थान नहीं मिला जिसके वह हकदार थे? शशि थरूर पूछते हैं कि महात्मा गांधी की इतनी ऊंची प्रतिमा क्यों नहीं बनाई गई तो भारत आईडिया उनके इस बेतुके सवाल का जवाब देते हुए बताना चाहेगा कि महात्मा गांधी के नाम से पूरे भारतवर्ष में हजारों मार्ग, विद्यालय, विश्वविद्यालय तथा अनेकों चीजों में नामकरित है लेकिन सरदार पटेल के नाम से कुछ भी नहीं ऐसा क्यों? शायद सिर्फ इसलिए क्योंकि कांग्रेस सिर्फ और सिर्फ परिवारवाद की राजनीति करना जानती है.


    संपादक : विशाल कुमार सिंह

    गुजराती वैज्ञानिकों के नाम से हिंदू ना लगने पर अमेरिका में गरबा कार्यक्रम में आने से रोका गया



    नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है भारत आइडिया में, दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं एक गुजराती वैज्ञानिक के बारे में जिसको सिर्फ नाम की वजह से हिंदू ना लगने पर अमेरिका में गरव कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बनने दिया गया.

    गुजराती वैज्ञानिकों के नाम से हिंदू ना लगने पर अमेरिका में गरबा कार्यक्रम में आने से रोका गया

    दरअसल एक गुजराती वैज्ञानिक ने आरोप लगाया है कि उन्हें तथा उनके दोस्तों को अमेरिका के अटलांटा में गरबा नृत्य कार्यक्रम में प्रवेश नहीं दिया गया, उनका आरोप है कि आयोजकों ने उनसे उनके नाम और शक्ल के आधार पर हिंदू ना होने की बात कह कर गरबा नित्य कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बनने दिया.

    वडोदरा के रहने वाले 29 साल के करण जानी laser interferometer gravitational wave observatory मैं अंतरिक्ष भौतिकी वैज्ञानिक है.

    करण ने इस घटना का आरोप अपने टि्वटर हैंडल से एक ट्वीट के जरिए 12 अक्टूबर को दिया जिसमें उन्होंने लिखा था की उनके शक्ल और नाम के आधार पर कार्यक्रम में प्रवेश नहीं मिला, करण ने यह भी आरोप लगाए हैं कि उनके पहचान पत्र में अंतिम नाम हिंदू नहीं था इसलिए उनको कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बनने दिया गया.

    जानी ने कहा कि उनको और उनके मित्रों को इस आधार पर प्रवेश नहीं मिला की उनके नाम के अंत में इस्माईली, वोहरा और सिंधी लगे हुए थे .

    इस मामले पर कर्ण के पिता पंकज ने अपने बयान में कहा कि उनकी बात अमेरिका में रहने वाले उनके बेटे करण से हुई है और वह इस बात को लेकर के काफी घबराए हुए हैं,

    पंकज ने कहा कि उनके बेटे को कार्यक्रम के दौरान उनके नाम के आधार पर रोका गया बेइज्जती की गई तथा खरी-खोटी भी सुनाई गई और शक्ल के आधार पर उनसे कहा गया कि तुम हिंदू नहीं लगते.

    संपादक : विशाल कुमार सिंह

    स्टेचू ऑफ़ यूनिटी का मोदी जी करेंगे अनावरण, सरदार पटेल की ये मूर्ति होगी दुनिया की सबसे बड़ी स्टेचू।

    31अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी करेंगे दुनिया की सबसे बड़ी मूर्ति स्टेचू ऑफ़ यूनिटी का अनावरण और आज हम इसी पर चर्चा करेंगे की  स्टेचू ऑफ़ यूनिटी है क्या ?

     स्टेचू ऑफ़ यूनिटी का मोदी जी करेंगे अनावरण, सरदार पटेल की ये मूर्ति होगी दुनिया की सबसे बड़ी स्टेचू।

    ये मूर्ति दरअसल मोदी जी का सपना है, ये मूर्ति सरदार बल्लम भाई पटेल की है जिन्होंने इस देश को आजादी के बाद एक सूत्र में बांधने का किया था।

    स्टेचू ऑफ़ यूनिटी 182 मीटर की होगी और यह नर्मदा के बांध पर बनाई जा रही है, जो 7 किल्लोमीटर दूर से ही दिखाई देने लगेगा।

    इस मूर्ति के अंदर लीस्ट यानि एक रास्ता भी होगा जिसके जरिये आप स्टेचू ऑफ़ यूनिटी के हृदय वाले स्थान तक जा सकते है, जहाँ से आप 17 किल्लोमीटर तक फैली नर्मदा के तट पर फैली फूल की वादियों का मजा ले सकते है।

    ये दुनिया की सबसे ऊँची मूर्ति होगी, अभी की सबसे बड़ी मूर्ति चीन में बुद्धा की है जो 128 मीटर की है।

    सम्पादक : विशाल कुमार सिंह 


    गुजरात रेप कांड माता पिता ने कहा मेरा बेटा मंदबुद्धि है।

    गुजरात के बहुचर्चित रेप कांड का आरोपी रविंद्र शाह गोंड मंदबुद्धि युवक है। यह उसके परिवार के लोगों का कहना है। उसकी मां रामावती देवी का कहना है कि यदि उसका बेटा दोषी है तो उसे सजा जरूर दी जाए पर बिहारियों को छोड़ दिया जाए। 
    गुजरात रेप कांड माता पिता ने कहा मेरा बीटा मंदबुद्धि है।  

    आरोपी ने १४ साल की बच्ची के साथ रेप किया है, दलित परिवार से ताल्लुक रखने वाले आरोपी का पिता सवालिया शाह मजदूरी करते हैं। बेटे के अपराध की जानकारी मिलने के बाद पूरा परिवार हैरान है। आरोपी के पिता का कहना है कि मेरा बेटा नाबालिक है और मंदबुद्धि का है, क्योंकि वह कई बार अस्वाभाविक व्यवहार करता था,और यह ४ भाइयों में से तीसरे स्थान पर है। 

    बता दे इस रेप की घटना के बाद से गुजरात में यूपी और बिहार के लोगों को प्रदेश छोड़ देने की बात धमकी दी गई। इन धमकियों के बाद से दहशत में करीब २०,०००बिहार और यूपी के लोग वापस अपने प्रदेश लौटे आएं।
    बेटा 

    संपादक: आशुतोष उपाध्याय

    मेरे बेटे को फांसी दो लकिन दूसरे बिहारियों को मत मारो : रेप आरोपी की माँ

    आपको जैसा की पता होगा बीते कुछ दिन पहले गुजरात में एक 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार की घटना सामने आयी थी जिसके कारण गुजरात में बिहारियों पर हमले होने शुरू हो गए थे और इसी बिच रेप आरोपी की माँ ने सरकार से गुहार लगाई है।

    मेरे बेटे को फांसी दो लकिन दूसरे बिहारियों को मत मारो : रेप आरोपी की माँ


    दरअसल जीस 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार हुआ था उसका मुख्य आरोपी बिहार का रहने वाला था, बस इसी को गुजरात में कांग्रेस ने मुद्दा बनवाकर कांग्रेसी गुंडों द्वारा बिहारी तथा उत्तरप्रदेश के लोगो पर हमला शुरू करवा दिया।

    इसी बिच आरोपी की माँ ने ये गुहार लगाई है की अगर मेरा बीटा दोषी है तो उसको फांसी दो लेकिन राज्य में रह रहे अन्य बिहारी लोगो को मत निशाना बनाओ।

    आरोपी के पिता ने कहा की मेरा बीटा नाबालिग है और दिमागी रूप से कमजोर है सो उसकी करनी की सजा अन्य बिहारियों को नहीं मिलनी चाहिए।

    सम्पादक : विशाल कुमार सिंह 

    हार्दिक की स्थिति नाजुक पहुंचे अस्पताल।

    हार्दिक की हालत ख़राब होते जा रही है, हार्दिक ने खुद ट्वीट करके जानकारी दी की उन्हें साँस लेने में दिक्कत हो रही है। आपको हम बता दे की हार्दिक ने अपनी गिरती लोकप्रियता के कारण 14 दिनों पहले पाटिल समुदाय के आरक्छन के लिए भूख हरताल शुरू किया था, भूख हरताल के13वें दिन डॉक्टरों ने जाँच के बाद  हार्दिक को अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी थी।

    हार्दिक ने ट्वीट कर बताया की मेरी तबियत बिगड़ने की वजह से मुझे भूख हरताल के 14वें दिन अहदाबाद की सोला सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया है, मुझे स्वास लेने में तकलीफ हो रही है और डॉक्टर्स भी भूख के कारण किडनी पर नुकसान बता रहे है। 

    14 दिनों से अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल ने कहा है की अगर मेरी मौत भी इस भूख हरताल के दौरान हो जाये तो बीजेपी को कोई फर्क नागि पड़ेगा। हार्दिक ने कहा की मेरे भूख हरताल पर बीजेपी के किसी नेता के तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। गुजरात चुनाव पर हार्दिक पटेल ने कहा की, कोई बात नहीं भले ही गुजरात का चुनाव हम हार गए हो लेकिन लोकसभा चुनाव भी आ रहे है। 

    इधर कांग्रेस ने भभकी भरी धमकी देते हुए कहा है की अगर बीजेपी हार्दिक से बात नहीं करती है तो हम शुक्रवार को बीजेपी के विरुद्ध हार्दिक के साथ 24 घंटे का अनसन करेंगे।

    कोंग्रेस के राजनेता हार्दिक से मिलने पहुंचे  उन्होंने संवादाताओं से कहा की अगर बीजेपी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया हार्दिक के लिए नहीं आती है तो हम सब कल शुक्रवार को जिले के हर मुख्यालयों पर 11 बाजे से लेके अगले दिन 11 बजे तक यानि 24 घंटो के लिए भूख हरताल करेंगे।

    गौरतलब है की हार्दिक ने फिर से अपनी लोकप्रियता को गिरते देख फिर से एक बार नौकरीऔर शिक्षा में पाटीदार के लिए आरक्षण की मांग को लेकर भूख हरताल पर है। 

    सम्पादक : विशाल कुमार सिंह 

    भूख हरताल के 13वें दिन बोले हार्दिक मर भी जाऊ तो भी बीजेपी को कोई फर्क नहीं पड़ता।

    13 दिनों से अनशन पर बैठे हार्दिक पटेल ने कहा है की अगर मेर आउट भी इस भूख हरताल के दौरान हो जाये तो बीजेपी को कोई फर्क नागि पड़ेगा। हार्दिक ने कहा की मेरे भूख हरताल पर बीजेपी के किसी नेता के तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है। गुजरात चुनाव पर हार्दिक पटेल ने कहा की, कोई बात नहीं भले ही गुजरात का चुनाव हम हार गए हो लेकिन लोकसभा चुनाव भी आ रहे है।

    इधर कांग्रेस ने भभकी भरी धमकी देते हुए कहा है की अगर बीजेपी हार्दिक से बात नहीं करती है तो हम शुक्रवार को बीजेपी के विरुद्ध हार्दिक के साथ 24 घंटे का अनसन करेंगे।

    आपको हम बता दे की पिछले 13 दिनों से हार्दिक अपने भूख हरताल के नाटक के कारन व्हील चेयर पर आगये है और काफी कमजोर नजर आ रहे है, हार्दिक ने 25 अगस्त से अपने अहमदाबाद के फार्म हाउस से उपवास शुरू किया था जो की अब तक चल रहा है जिसके बाद डॉक्टरों ने हार्दिक को अस्पताल इ भर्ती होने की सलाह दी है।

    कोंग्रेस के राजनेता हार्दिक से मिलने पहुंचे  उन्होंने संवादाताओं से कहा की अगर बीजेपी की तरफ से कोई प्रतिक्रिया हार्दिक के लिए नहीं आती है तो हम सब कल शुक्रवार को जिले के हर मुख्यालयों पर 11 बाजे से लेके अगले दिन 11 बजे तक यानि 24 घंटो के लिए भूख हरताल करेंगे।

    गौरतलब है की हार्दिक ने फिर से अपनी लोकप्रियता को गिरते देख फिर से एक बार नौकरीऔर शिक्षा में पाटीदार के लिए आरक्षण की मांग को लेकर भूख हरताल पर है। 

    सम्पादक : विशाल कुमार सिंह 

    New Responsibilities on New Liability on Deepak Thakur ji / दीपक ठाकुर जी पर नई दायित्व पर नई जिम्मेदारियां


    आज हम बात करने जा रहे हैं श्री दीपक ठाकुर जी के बारे में जो कि धीरे-धीरे देश और बिहार प्रदेश में एक अलग ही पहचान बना रहे हैं।

    ऐसे तो अगर वह चाहते तो अपने पिताजी के माध्यम से  बहुत अच्छी अच्छी दायित्व ले सकते थे और अपने पिताजी के चेहरे से भी अपनी चमक निखार  सकते थे लेकिन दीपक जी ये आसान रास्ता को छोड़ते हुए कठिन मार्ग को अपनाया और अपने मेहनत के काबिलियत से आगे बढ़ना ही सब कुछ समझा। इनके पिता जी का नाम डॉक्टर सीपी ठाकुर है जो की किसी परिचय की जरूरत नही इन्हें देश और दुनिया जानती है ।

    हाल में ही श्री दीपक ठाकुर जी को भाजपा में एक बहुत ही बड़ी दायित्व प्रदान की गई।
     दीपक जी का  पार्टी के प्रति निष्ठा और गरीब समाज में उठ बैठ और किसानों के प्रति हर एक सुख-दुख में भागीदारी रहना और किसानों की आवाज उठाने के कारण भाजपा किसान मोर्चा का गुजरात का सह प्रभारी बनाया गया है ।

    किसानों की आवाज उठाने वाले दीपक जी से और भी उम्मीद बढ़ गई है जनता की।

     जिंदगी की असली उड़ान अभी बाकी है"
    जिंदगी के कई इम्तिहान भी अभी बाकी हैं
    अभी तो नापी है मुट्ठी भर जमीन हमने
    अभी तो सारा आसमान बाकी है।

    संपादक: आशुतोष उपाध्याय

    पाटीदार नेता को मेहसाणा दंगा मामले में बरा झटका, अदालत ने सुनाई कड़ी सजा :




    साल 2015 में हुए मेहसाणा दंगा मामले में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को को 2 वर्षो की सजा सुनाई गयी है। ये सजा हार्दिक पटेल को निचली अदालत द्वारा सुनाई गयी है। पाटीदार अनामत आंदोलन के दौरान 23 जुलाई, 2015 को विसनगर के बीजेपी विधायक ऋषिकेश के दफ्तर में तोडफ़ोड़ की गयी थी और इस मामले में हार्दिक पटेल सहित 3 लोग दोषी पाए गए थे।


    विसनगर जिला सेंसस कोर्ट ने बुधवार को फैसला सुनाते हुए कहा की दंगा फैलाने के मामले में हार्दिक पटेल, लालजी पटेल और अम्बालाल पटेल को दोषी पाये गए है, इसलिए अदालत इन तीनो को 2 वर्षो की सजा सुनाती है। साथ ही साथ कोर्ट ने इन तीनो पर 50-50 हजार का जुर्माना भी लगाया है।

    अगर आपको ज्ञात हो तो इसी मामले में 2 वर्ष पूर्व भी हार्दिक पटेल की गिरफ्तारी हुई थी जिसके विरोध में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति ने बंद का ऐलान किया था।हालात इतने गंभीर होगये थे की प्रसाशन ने मेहसाणा, सूरत और राजकोट में मोबाइल सेवा थप करदी थी। ये काफी उग्र आंदोलन था, इस आंदोलन में आंदोलनकारियों ने 2 घरो में आग लगा दी थी साथ ही साथ पुलिस की अनगिनत गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया था।


    इसी आंदोलन से पाटीदार नेता हार्दिक पटेल सुर्खियों में आये थे।हालांकि हार्दिक मूलरूप से अहमदाबाद से करीब 60 किलोमीटर दूर वीरमगाम के रहने वाले है, यही इनके पिता भरतभाई पटेल तथा माता उषबेन रहते है।


    सम्पादक : विशाल कुमार सिंह
    भारत आईडिया से जुड़े :
    अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 .
    आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
    आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।