गुरु की उल्टी गिनती शुरू, मिलने वाली है अब तक की सबसे बडी खबर ?

लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त का मुंह देखने के बाद अब कांग्रेस की अंदरूनी कलह सामने आने लगी है. अपने बयानों ने सुर्खियों में रहने वाले नवज...




लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त का मुंह देखने के बाद अब कांग्रेस की अंदरूनी कलह सामने आने लगी है. अपने बयानों ने सुर्खियों में रहने वाले नवजोत सिंह सिद्धू की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं. सिद्धू को पंजाब कैबिनेट से हटाने की कवायद ने तेज हो गई है. जानकारों की मानें तो राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ ही बड़े नेताओं से सिद्धू को मंत्रिमंडल से हटाने की बात कर ली है.कैप्टन के अलावा राज्य के कई मंत्री भी इस कवायद में लगे हुए हैं. पंजाब कैबिनेट के मंत्रियों का कहना है कि लोकसभा चुनावों में सिद्धू की बयानबाजी और हरकतों के कारण कैप्टन अमरिंदर के साथ-साथ राहुल गांधी की छवि भी खराब हुई है.




इसके अलावा सीएम अमरिंदर ने गुरुवार को सिद्धू का विभाग बदलने की बात भी कही थी. उन्होंने कहा था कि सिद्धू अपना विभाग नहीं संभाल पा रहे हैं. उन्होंने कहा था कि चुनावों के दौरान धर्मग्रथों की बेअदबी पर की गई सिद्धू की टिप्पणी पर भी राहुल गांधी से बात की जाएगी.


बता दें कि चुनाव से ठीक एक दिन पहले सिद्धू ने 2015 में धार्मिक ग्रथों की बेअदबी के बाद की जा रही जांच पर सवाल उठाया था. सीएम कैप्टन अमरिंदर ने कहा था कि नवजोत सिंह सिद्धू की पकिस्तान के सेना प्रमुख से दोस्ती और झप्पी को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. खास तौर पर भारतीय सेना तो इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं कर सकती है.




INSTALL OUR APP FOR 60 WORDS NEWS