Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

बीजेपी उत्तरप्रदेश अध्यक्ष का नाम लगभग तय, इनको मिल सकती है उत्तरप्रदेश कि जिम्मेवारी ?




यूपी में बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष के लिए चर्चा हुई तेज, रेस में सबसे आगे हैं ये 4 चेहरेउत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय के केन्द्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने के बाद अब सबकी निगाहें नये प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव पर टिकी हैं।प्रदेश में भाजपा ने 80 लोकसभा सीटों में से 62 पर विजय हासिल की। पाण्डेय की अगुवाई में पार्टी ने एकजुट विपक्ष विशेषकर सपा बसपा गठबंधन का मजबूती से मुकाबला किया और उनकी हर रणनीति को विफल किया।




भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल (एस) ने दो सीटें जीतीं। कांग्रेस के हिस्से सिर्फ रायबरेली की ही सीट आयी।प्रदेश भाजपा अध्यक्ष कौन होगा, इसे लेकर कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है लेकिन कुछ वरिष्ठ पार्टी नेताओं ने संकेत दिया कि उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, विधान परिषद सदस्य विद्यासागर सोनकर, लक्ष्मण आचार्य और सांसद महेश शर्मा में से किसी को यह जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। 





महेश शर्मा की दावेदारी इसलिए भी ज्यादा मजबूत लगती है क्योंकि इस बार उन्हें कोई मंत्रालय नहीं दिया गया है। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में शर्मा ने पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री का जिम्मा संभाला था। महेश शर्मा गौतमबुद्ध नगर से दोबारा सांसद चुने गए हैं। ब्राह्मण होना भी इनकी दावेदारी के पक्ष में जा सकता है।




Breaking News
Loading...
Scroll To Top