कांग्रेस ने फिर दिखाई घटिया राजनीती इराक में मारे गए 38 लोगो पर भी कांग्रेस की घटिया राजनीती.

कांग्रेस ने फिर दिखाई घटिया राजनीती इराक में मारे गए 38 लोगो पर भी कांग्रेस की घटिया राजनीती.   बेंगलुरु : इराक़ के मोसुल में 38 भारतीयों की ...

कांग्रेस ने फिर दिखाई घटिया राजनीती इराक में मारे गए 38 लोगो पर भी कांग्रेस की घटिया राजनीती.
 
बेंगलुरु :
इराक़ के मोसुल में 38 भारतीयों की हत्या कर दी गयी है, लेकिन हर एक न्यूज़ चैनल इसको हत्या न बताकर एक हादशा बता रहा है ,जो की बहोत ही शर्मनाक है और निन्दनिये भी है। हम आपको बताना चाहेंगे की इस दुखद घटना पर सुषमा स्वराज ने कांग्रेस को आरे  हाथो लिया है और कहा है की मै  इस घटना से काफी आहात हु। विदेश  मंत्री ने अपनी बातो को आगे रखते हुए कहा की मै  इस बात को लोकसभा में रखना चाहती थी लेकिन  कांग्रेस के सोर-सराबे के कारन ये नहीं हो सका। 

सुषमा स्वराज ने आगे कहा की मुझे दुःख इस बात का है की इस सोर-सराबे का नेतृत्व ज्योतिरादितिए सिंधिया कर रहे थे , विदेश मंत्री ने तीखे सवाल कांग्रेस पर दागते हुए कहा की क्या कांग्रेस की संवेदना मर चुकी है। सुषमा स्वराज ने इराक में मारे  गए भारतीयों पर  संवेदना जताते हुए कहा की मुझे शर्म आ रही है की कांग्रेस ने अपने कोलाहल के कारन मुझे सभा में अपनी बात रखने का मौका ही नहीं दिया जो की एक घटिया राजनीती है। 

विदेश मंत्री ने कहा की कांग्रेस को जवाब देना होगा की लोकसभा की कार्यवाई को क्यों बाधित किया गया जब मुझे इराक में मारे गए 38 भारतीयों पर जानकारी देनी थी । सुषमा स्वराज ने कहा की मैंने ये जानकारी परिजनों को देने से पहले यहाँ रखना चाहा क्युकी ये बात बहोत ही दुखनिये थी। उन्होंने कहा की आज ही मुझे ये बात इराक के संगठन से पता चली और मैं  ये बात पुरे देश को बताना चाहती थी लेकिन कांग्रेस ने ऐसा नहीं होने दिया। 

इराक में मरे गए लोगो पर सुषमा स्वराज ने कहा की मरे गए भारतीयों को प्लेन  से चंडीगढ़ लाया जायेगा, इसके बाद प्लेन  को हिमाचल फिर पटना ले जाया जायेगा और अंत में ये प्लेन पश्चिम बंगाल जायेगा और एक के बाद एक सव परिजनों को  सौपा जायेगा। सुषमा स्वराज ने दुःख जाहिर करते हुए कहा की मैंने कभी भी मृतकों के परिजनों से कभी सच्चाई नहीं छिपाई ,मैंने जब सबुत इकठा कर लिए तब मै आपके सामने आयी हु। विदेश मंत्री ने कहा की सव से बेहतर सबुत कुछ नहीं हो सकता, चुकी ये अंतर्राष्ट्रीय मामला था इसलिए बिना शबूत  कुछ बोलना सही नहीं होता। 

उन भारतीयों में से जान बचाकर लौटे हरजीत मशीह के बयान पर विदेश मंत्री ने कहा की वह एक व्यक्ति है और हम सरकार है और उनको सवाल पूछने का हक़ है लेकिन एक व्यक्ति के आधार सरकार किसी नतीजे पर नहीं पहुँच सकती। अपनी बातो को अंत करते हुए विदेश मंत्री ने कहा की हमने डीएनए के आधार पर सवो की पुष्ठी की है।

भारत विज़न की विचार  इस समाचार पर:
सबसे पहले तो इराक मे मरे गए भारतीयों की आत्मा के लिए भारत विज़न  ईश्वर से प्रार्थना करता है। भारत विज़न  यहाँ पर बीजेपी और कांग्रेस दोनों से सवाल करना चाहता है। बीजेपी से मेरा ये सवाल है की क्या आप हमारे नागरिको को पहले से ही सुरक्छा मुहैया नहीं करवा सकती थी। और कांग्रेस तोहमेशा  से ही गिरी हुई राजनीती करती आयी है तो कांग्रेस से ऐसे ही कोई उम्मीद नहीं है। बीजेपी से एक गुजारिश है ऐसा कोई व्यक्ति जिसके परिवार की आर्थिक दृष्टि खराब है और उसने आपने बेटे को इस दुखद घटना में खो दिया हो उसकी मदद जरूर करे। 

अगर आपको मेरा समाचार  पसन्द  आया हो तो भारत विज़न  के पेज को लाइक करना न भूले तथा हमें आप यूट्यूब पर भी सब्सक्राइब  करके समाचर पा सकते हो जो देश हित में कारीगर हो। 

विशाल कुमार सिंह

INSTALL OUR APP FOR 60 WORDS NEWS