सरियत के अनुसार वोटिंग हराम है / According to the muslim law voting is haram

जिनको सरिया अदालत चाहिए उनका वोट का अधिकार ख़त्म किया जाये : कपिल मिश्रा  बीते कुछ दिनों में मुस्लिम कट्टरंथियो ने संविधान को सीधा चुनौती देत...

जिनको सरिया अदालत चाहिए उनका वोट का अधिकार ख़त्म किया जाये : कपिल मिश्रा 


बीते कुछ दिनों में मुस्लिम कट्टरंथियो ने संविधान को सीधा चुनौती देते हुए हर जिले में सरिया अदालत की मांग की है, जिससे की देश की राजनीती से लेकर सोशल मीडिया सब जगह हड़कंप मचा हुआ है।

कांग्रेस के नेताओ ने जहाँ एक तरफ इसका समर्थन किया है तो दूसरी तरफ जब बीजेपी ने इसका विरोध किया तो मुस्लिम कट्टरपंथियों ने ये मांग कर दी की अगर हमें अलग सरिया अदालत बनाने की इजाजत नहीं दे सकते तो हमें एक अलग देश देदे जहाँ हम अपना सरिया अदालत का कानून चला सके।


इसी बिच कपिल मिश्रा भी इस बहस में कूद चुके है और कहा है की जिनको अलग सरिया अदालत चाहिये उनसे उनका वोट का अधिकार छीन लेना चाहिये।

आपको हम बता दे की सरिया कानून के तहत वोट देना हराम है और इसीलिए सऊदी अरब में वोटिंग की इजाजत नहीं है, बस इसी बात पर कपिल मिश्रा ने तर्क देते हुए कहा की अगर किसी को सरियत अदालत का कानून चाहिए तो उससे उसका वोट का अधिकार भी छीन लेना चाहिए।

सम्पादक : विशाल कुमार सिंह
भारत आईडिया से जुड़े :
अगर आपके पास कोई खबर हो तो हमें bharatidea2018@gmail.com पर भेजे या आप हमें व्हास्स्प भी कर सकते है 9591187384 .
आप भारत आईडिया की खबर youtube पर भी पा सकते है।
आप भारत आईडिया को फेसबुक पेज  पर भी फॉलो कर सकते है।




INSTALL OUR APP FOR 60 WORDS NEWS