गठबंधन के लिए राज्य के नेताओं के हितों को कुर्बान नहीं करेंगे : कांग्रेस / Congress will not sacrifice interests of coalition leaders: Congress

रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि पार्टी की नीति रही है कि वह एक समान विचारधारा वाले दलों के साथ काम करती रही है वहीं पार्टी अपने राज्य नेताओं के...


रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि पार्टी की नीति रही है कि वह एक समान विचारधारा वाले दलों के साथ काम करती रही है वहीं पार्टी अपने राज्य नेताओं के हितों की उपेक्षा नहीं कर सकती।



२०१९ के लोकसभा चुनावों के लिए जहां राजनीतिक दल बीजेपी विरोधी गठबंधन बनाने के लिए प्रयासरत हैं वहीं कांग्रेस ने सधे हुए अंदाज में कहा कि वह क्षेत्रीय स्तर पर गठबंधन के लिए अपने राज्य नेताओं के हितों की उपेक्षा नहीं कर सकती.  कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि पार्टी की नीति रही है कि वह एक समान विचारधारा वाले दलों के साथ काम करती रही है वहीं पार्टी अपने राज्य नेताओं के हितों की उपेक्षा नहीं कर सकती। 

सुरजेवाला ने, ‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस राज्य नेतृत्व के हितों और कार्यकर्ताओं की आकांक्षाओं को नजरअंदाज नहीं करेगी. हर राज्य में एक आदर्श संतुलन बिठाने का प्रयास किया जाएगा. ’ उन्होंने ‘राष्ट्र हित ’ में समान विचारधारा वाले दलों के साथ राज्यवार गठबंधन की वकालत की।

सुरेजवाला ने कहा , ‘कांग्रेस की समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ मिलकर काम करने की नीति रही है. ’ उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ए . के . एंटनी की अध्यक्षता वाली समिति राज्य के नेताओं के साथ विचार - विमर्श के बाद गठबंधन पर अंतिम निर्णय करेगी।

कांग्रेस ने ‘‘ राज्यवार गठबंधन ’’ की बात ऐसे समय में की है जब इसकी केरल इकाई में एकमात्र राज्यसभा सीट इसकी पूर्व सहयोगी पार्टी केरल कांग्रेस (मणि) को देने के खिलाफ इसे विद्रोह का सामना करना पड़ रहा है।

संपादक:आशुतोष उपाध्याय

INSTALL OUR APP FOR 60 WORDS NEWS