Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

योगी कैबिनेट कि मिली मंजूरी सरयू के किनारे स्थापित होगी श्री राम की दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा




नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे योगी सरकार की कैबिनेट के बारे में जिसकी तरफ से भगवान श्री राम की सबसे ऊंची प्रतिमा लगाने कि मंजूरी मिल गई है ।

समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस , हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम जी की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा लगेगी. प्रतिमा की ऊंचाई 200 से लेकर 251 मीटर हो सकती है. अयोध्या में सरयू के किनारे सटे 100 हेक्टेअर भूमि पर विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्थापित की जाएगी. इस संबंध में सोमवार (22 जुलाई) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हाई पावर कमेटी की बैठक हुई. 


इसमें डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना, कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, मुख्य सचिव अनूपचंद्र पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी के साथ कई विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे। कैबिनेट के सभी मिनिस्टर्स कि तरफ से इसको मंजूरी भी मिल गई है ।





मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सरयू के किनारे 100 हेक्टेअर भूमि पर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की भव्य प्रतिमा स्थापित करने के कार्य को तेजी के साथ शुरू कर दिया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा है कि भगवान श्रीराम की प्रतिमा के साथ-साथ अयोध्या के समग्र विकास के लिए पूरी योजना तैयार होनी चाहिए. इसमें भगवान श्रीराम पर आधारित डिजिटल म्यूजियम, इंटरप्रेटेशन सेंटर, लाइब्रेरी, पार्किंग, फूड प्लाजा, लैंडस्केपिंग के साथ-साथ पर्यटकों के मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था हो.

न्यूयार्क में स्टैच्यू आफ लिबर्टी की ऊंचाई 93 मीटर, मुंबई में निर्माणाधीन डॉ. बीआर अंबेडकर जी की प्रतिमा की ऊंचाई 137.2 मीटर, गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की प्रतिमा की ऊंचाई 183 मीटर, चीन में गौतम बुद्ध की प्रतिमा की ऊंचाई 208 मीटर, मुंबई में निर्माणाधीन छत्रपति शिवाजी महाराज के प्रतिमा की ऊंचाई 212 मीटर है. जबकि अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की प्रतिमा की ऊंचाई 251 मीटर प्रस्तावित है. जिससे ये विश्व की सबसे ऊंची और भव्य प्रतिमा होगी.




आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



Breaking News
Loading...
Scroll To Top