Engहिंदी

Get App

हम राजनीती एवं इतिहास का एक अभूतपूर्व मिश्रण हैं.हम अपने धर्म की ऐतिहासिक तर्क-वितर्क की परंपरा को परिपुष्ट रखना चाहते हैं.हम विविध क्षेत्रों,व्यवसायों,सोंच और विचारों से हो सकते हैं,किन्तु अपनी संस्कृति की रक्षा,प्रवर्तन एवं कृतार्थ हेतु हमारा लगन और उत्साह हमें एकजुट बनाये रखता है.हम आपके विचारों के प्रतिबिंब हैं,आपकी अभिव्यक्ति के स्वर हैं,हम आपको निमंत्रित करते हैं,अपने मंच 'BharatIdea' पर,सारे संसार तक अपना निनाद पहुंचायें.

आजम खान को इस मुस्लिम अभिनेता ने दी पाकिस्तान जाने की सलाह कहा मै टिकट करा दूंगा।




नमस्कार दोस्तों आप सबका स्वागत है भारत आइडिया के इस  नए संस्करण के समाचार लेख में। भारत आइडिया के पाठकों आज इस लेख में हम बात करेंगे KRK के उस ट्वीट के बारे में जिसने उन्होंने आजम खान को बुरी तरह से लतार लगाई है ।

समाचार पढ़ने से पहले एक गुजारिस , हमारे फेसबुक पेज को  लाइक कर हमारे साथ जुड़े। 



केआरके (KRK) के नाम से मशहूर बॉलीवुड एक्टर कमाल राशिद खान (Kamaal Rashid Khan) अपने विवादित ट्वीट्स के चलते हमेशा ही सुर्खियों में छाए रहते हैं. लेकिन, हाल ही में उन्होंने एक राजनीतिक ट्वीट किया है और लोगों से इसके लिए माफी भी मांगी है. उनका यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है और लोग इसे खूब रिट्वीट कर रहे हैं. दरअसल, कमाल राशिद खान (केआरके) ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से समाजवादी पार्टी के नेता और रामपुर से सांसद आजम खान पर निशाना साधा है.


हाल ही में आजम खान ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था, 'मुसलमान 1947 के बाद भी सजा काट रहे हैं. अगर मुसलमान पाकिस्तान चले जाते तो उन्हें यह सजा नहीं मिलती. मुसलमान यहां हैं तो सजा भुगतेंगे.





' आजम खान के इस बयान पर बॉलीवुड अभिनेता केआरके भड़क गए और उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट कर खान पर निशाना साधा. कमाल राशिद खान ने आजम खान के लिए ट्वीट करते हुए लिखा कि अगर आजम खान को बंटवारे के समय पाकिस्तान न जाने का दुख है तो वह अब जा सकते हैं. मैं उनके (आजम खान) पूरे परिवार को बिजनेस क्लास का टिकट दिलवाने के लिए तैयार हूं. भारत को ऐसे ढोंगी लोगों की कतई जरूरत नहीं हैं. 

केआरके ने लिखा कि ऐसे लोग अपने फायदे और भ्रष्टाचार के लिए धर्म का इस्तेमाल करते हैं. उन्होंने लिखा कि मिस्टर आजम कृपया नोट कर लें, भारत से पाकिस्तान जाने वाले लोगों को पाकिस्तानी लोग 'मुहाजिर' कहते हैं और उनके साथ तीसरे दर्जे के इंसान की तरह व्यवहार किया जाता है. उन्होंने लिखा कि सभी मुसलमान आपस में भाई हैं, यह नारा केवल किताबों में ही अच्छा लगता है, तो मूर्ख मत बनो.    



आपकी इस समाचार पर क्या राय है,  हमें निचे टिपण्णी के जरिये जरूर बताये और इस खबर को शेयर जरूर करे। 



Breaking News
Loading...
Scroll To Top